फ़्रांस या अमेरिका में बनी कोरोना वैक्सीन तो सबसे पहले भारत को मिलेगी, हो गयी बात, मोदी की जबरजस्त कामयाबी

ट्रेंडिंग

दुनिया के कई देश अब चीनी वायरस कोरोना की वैक्सीन बनाने के काफी नजदीक पहुँच गए है, कई देशों में जानवरों तो कई देशों में इंसानों पर भी ट्राइल शुरू हो गया है फ़्रांस जापान अमेरिका जैसे देशों में रिसर्च काफी आगे तक बढ़ चूका है और अमेरिका में तो इंसानों पर भी ट्राइल चल रहा है अब इसी बीच भारत के लिए एक अच्छी जानकारी ये सामने आ रही है की प्रधानमंत्री मोदी फ़्रांस के राष्ट्रपति मक्रों और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प से वैक्सीन को लेकर लगातार संपर्क में है और फ़्रांस तथा अमेरिका ने भारत को भी उन देशों की लिस्ट में जोड़ दिया है जिनके साथ वो वैक्सीन को सबसे पहले शेयर करेंगे 


ANI@ANI

The high-level discussions were backed by work on the ground for repatriating French citizens visiting India. Since the suspension of international flights, more than 2,200 travellers have thus been able to return to France: Emmanuel Lenain, Ambassador of France to India https://twitter.com/ANI/status/1251421634231062532 …ANI@ANIOn 31st Mar, Pres Macron&PM Modi had a long telephonic meeting. They fixed areas of collaboration,discussed best practices,shared latest info, particularly on research on a vaccine, and coordinated their international initiatives: Emmanuel Lenain, Ambassador of France to India380Twitter Ads info and privacy51 people are talking about this
अगर फ़्रांस और अमेरिका में वैक्सीन बनती है तो इसे वो देश सबसे पहले अपने नागरिको को देंगे उसके बाद मित्र देशों के साथ वैक्सीन को शेयर करेंगे और फ़्रांस तथा अमेरिका ने भारत को भी सबसे पहले वैक्सीन शेयर करने वाली लिस्ट में जोड़ा है 
हाल ही में अमेरिका की मांग पर भारत ने अमेरिका को हाइड्रोक्सी कोलोरो कुएन भेजी थी जिसके बाद डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा था की अगर अमेरिका में वैक्सीन बनी तो भारत को सबसे पहले शेयर की जाएगीफ़्रांस और अमेरिका वैक्सीन बनाने में सबसे आगे है, इनका रिसर्च भी सबसे आगे चल रहा है, लगभग ऐसी ही रफ़्तार इजराइल और जापान में भी चल रही है और इजराइल और जापान के प्रधानमंत्रीयों से भी भारत के प्रधानमंत्री मोदी की मित्रता काफी अच्छी है, मोदी की कूटनीति का ही असर है की अगर इन बड़े देशों में वैक्सीन बना तो वो जल्दी ही भारत में भी उपलब्ध हो जायेगा 
बता दें की भारत की भी कई कम्पनियाँ वैक्सीन बनाने में लगी हुई है, हालाँकि अभी भारत में इंसानों पर कोई ट्राइल शुरू नहीं हुआ है, पर जापान इजराइल फ़्रांस में रिसर्च भारत से काफी आगे बढ़ चूका है और अमेरिका तो इंसानों पर भी ट्राइल कर रहा है, जानकर मान रहे है की 3-6 महीनो में वैक्सीन आ सकती है, हालाँकि कुछ का कहना है की वैक्सीन में अभी 1 साल तक का भी समय लग सकता है 

Leave a Reply

Your email address will not be published.