अभी अभी सीजफायर उल्लंघन का भारत ने दिया जवाब;5 पाकिस्तानी सैनिक ढेर, चौकी तबाह:

ट्रेंडिंग

सीजफायर उल्लंघन से पाकिस्तान बाज नहीं आ रहा है। जवाबी कार्रवाई में उसके पॉंच सैनिक मारे गए हैं और एक चौकी तबाह हो गई। दो भारतीय जवान वीरगति को प्राप्त हो गए।

बारामूला जिला के उरी सेक्टर में शुक्रवार को बेवजह फायरिंग का भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तान को मुँहतोड़ जवाब दिया। हाजीपीर के निचले हिस्से में स्थित एक पाकिस्तानी चौकी को तबाह कर दिया। उसके पाँच सैनिकों के मारे जाने की भी सूचना है। सूत्रों के अनुसार क्षतिग्रस्त चौकी से पाकिस्तानी जवान अपने साथियों को निकालते देखे गए। वे घायल थे अथवा मृत इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। डॉन ने 34 साल के लांसनायक अली बाज के मारे जाने की पुष्टि की है।

कोरोना महामारी और रमज़ान के बावजूद पाकिस्तान लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन कर रहा है। उसने कश्मीर के उरी सेक्टर में भारतीय सैन्य और नागरिक ठिकानों पर भारी गोलाबारी की। फायरिंग में भारत के चार सैनिक घायल हो गए। इन्हें तुरंत ही पास के मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। शुक्रवार देर शाम इलाज के दौरान दो सैनिकों ने दम तोड़ दिया। इनके नाम हवलदार गोकर्ण सिंह और नायक शंकर एसपी है। जिन दो सैनिकों का इलाज चल रहा है उनके नाम हवलदार नारायण सिंह और नायक प्रदीप भट्ट हैं।

आम नागरिक भी हुए घायल

अधिकारियों के मुताबिक दोपहर करीब साढ़े तीन बजे गुलाम कश्मीर में हाजीपीर सेक्टर में पाक सैनिकों ने अपनी चौकियों से चुरुंडा, हथलंगा, सिलीकोट, बटगरान, शहूरा, नांबला और गरकोट को निशाना बनाते हुए गोलाबारी की। चरुंडा गाँव में कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए। इसी गाँव में बशीर अहमद की 12 वर्षीय बेटी शहनाजा बानो व चार वर्षीय पुत्र तौसीफ अहमद और ताहिरा बानो पत्नी लियाकत अली जख्मी हो गई।

उरी के पास मलिक मोहल्ले में मुबशिर मलिक और आफताब अहमद के मकान को क्षति पहुँची है। नियंत्रण रेखा से सटे क्षेत्रों में लोग सामुदायिक सुरक्षा बंकरों में चले गए हैं। कुछ को प्रशासन द्वारा निकटवर्ती सुरक्षित जगहों पर पहुँचाया गया है।

पाकिस्तान की ओर से पिछले कुछ दिनों से जम्मू संभाग में राजौरी व पुंछ तथा कश्मीर संभाग में बारामुला, कुपवाड़ा व बांदीपोरा जिले में एलओसी पर लगातार गोलाबारी की जा रही है। गोलाबारी की आड़ में पाकिस्तान ज्यादा से ज्यादा आतंकियों को घुसपैठ कराने की फिराक में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.