56 इस्लामी देश की धमकी देने वालो, तुम्हारे 56 के 56 देश है नपुंसक, इजराइल है सबूत

ट्रेंडिंग

भारत और मूल रूप से हिन्दुओ को भारत में रहने वाले उन्मादी इन दिनों 56 इस्लामिक देशों, अरब देशों की धौंस दिखा रहे है, ऐसे मजहबी उन्मादियों में दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग का अध्यक्ष ज़फरुल इस्लाम भी शामिल है जो की केजरीवाल की मदद से अध्यक्ष बना हुआ है ज़फरुल इस्लाम और इसके साथ साथ बहुत सारे उन्मादी अरब देशों की धौंस भारत और हिन्दुओ को दिखा रहे है, ज़फरुल इस्लाम तो लिखित रूप में धमकी भी देने लगा 28 अप्रैल को ज़फरुल इस्लाम ने भारत और असल में हिन्दुओ को धमकी देते हुए कहा की – अगर हम भारतीय मुसलमानों ने अपने अरबी मुस्लमान भाइयों से तुम्हारी (हिन्दुओ की) शिकायत कर दी तो फिर हम भारत में जलजला ले आएंगे ज़फरुल इस्लाम कह रहा था की – हम अरबी देशों के साथ मिलकर भारत पर हमला करेंगे और भारत में हिन्दुओ का सफाया कर देंगे 



ज़फरुल इस्लाम की बात का भारत के मजहबी उन्मादियों ने एक सुर में समर्थन किया और सभी मजहबी उन्मादी इन दिनों अरब देशों, 56 इस्लामी देशों, इस्लामी देशों की संयुक्त सेना की धौंस हिन्दुओ को दिखा रहे है इन मजहबी उन्मादियों को समझ लेना चाहिए की जिन 56 देशों की धौंस ये भारत जैसे बड़े और ताकतवर देश को दिखा रहे है, वो 56 के 56 देश नपुंसक है, जी हाँ नपुंसक और इसका सबसे बड़ा सबूत खुद इजराइल है अरब देशों में इजराइल भी आता है, एकलौता ऐसा देश जो की मुस्लिम देश नहीं है, इजराइल मात्र 90 लाख की आबादी वाला देश है, छोटा सा देश, 56 के 56 अरबी और इस्लामिक देश आजतक एक छोटे से इजराइल का बाल भी बांका नहीं कर सके है इजराइल के साथ 56 के 56 देशों ने एक नहीं बल्कि दर्जन भर युद्ध लड़े है और हर युद्ध में इजराइल ने 56 के 56 देशों को पीट के रख दिया है, अरब के देश इजराइल को समाप्त कर देना चाहते है, पर जैसे नपुंसक कितनी भी कोशिश कर ले पर वो किसी को जन्म नहीं दे सकता वैसे ही 56 के 56 इस्लामी देश एक नहीं बल्कि दर्जनों कोशिश कर चुके है वो इजराइल का आजतक बाल भी बांका नहीं कर सके भारत के मजहबी उन्मादी जो भारत और हिन्दुओ को 56 देशों की धौंस दे रहे है उन्हें समझ लेना चाहिए की जब तुम्हारे 56 देश इजराइल का कुछ नहीं कर सके तो भारत का  ये 56 नपुंसक देश क्या कर लेंगे, इन 56 देशों की स्तिथि तो ये है की इनकी सेना भी इतनी कायर है की अमेरिका को पैसा देकर सऊदी और कुवैत जैसे देश उसकी सेना द्वारा अपनी सुरक्षा करवाते है, इनके तो खुद के सैनिक तक इनकी सुरक्षा नहीं कर सकते, अमेरिका की सेना पुरे अरब देशों में कई बेस बनाकर हमेशा तैनात रहती है और इसके बदले अरब के देशों से पैसे भी लेती है, ऐसे नपुंसक देश भला भारत का क्या बिगाड़ लेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.