नीदरलैंड ने ताइवान को गिफ्ट किया ट्यूलिप और कुकी तो चीन एकतरफा प्यार में पागल आशिक की तरह जल भून गया

ट्रेंडिंग

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में चीन की पोल खोल कर रख दी है साथ ही इस विपत्ति के दौर में ताइवान जैसे छोटे से देश को पहचान दिलाई है। यह देश न सिर्फ अन्य देशों की मदद कर रहा है बल्कि इसने WHO के प्रोपोगेंडे को भी एक्सपोज किया है। अब अगर कोई देश ताइवान की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ा रहा है तो इस पर चीन एक बहके हुए एकतरफा प्यार में पागल आशिक की तरह बर्ताव कर रहा है। जी हां आपने सही सुना! हाल ही में ताइवान द्वारा की गई मदद के बाद Netherlands ने ताइवान को tulip का फूल और कुकीज़ भेजा था। इसपर चीन इतना चिढ़ गया कि उसने Netherlands को मेडिकल सपोर्ट बंद कर देने और डच सामानों का बहिष्कार करने की धमकी दे डाली। इस तरह से तो एकतरफा प्यार करने वाला व्याकुल प्रेमी ही करता है।

दरअसल, कोरोना ने Netherlands में अन्य यूरोपिय देशों की तरह ही कोहराम मचाया हुआ है। इस छोटे से देश में अभी तक 39 हजार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। साथ ही 4700 से अधिक लोगों की मौत भी हो चुकी है। जब Netherlands कोरोना से जूझ रहा था तब चीन ने इस देश को 6 लाख से अधिक नकली मास्क दे कर धोखा दिया था। उस समय Netherlands ने तुरंत सभी मास्क चीन को वापस लौटाने का निर्णय लिया था। ऐसे मुश्किल समय में ताइवान ने 1 अप्रैल को अपने सभी इंटरनेशनल पार्टनर्स को 10 मिलियन मास्क दान करने की घोषणा कर दी थी जिसमें 5.6 मिलियन मास्क यूरोपियन यूनियन के देशों को देने की बात कही थी जिसमें Netherlands भी आता है। ताइवान के इसी मदद और व्यवहार को धन्यवाद करने के लिए Netherlands ने ताइवान को 3999 tulip के फूल भेजे थे। वुहान कोरोनावायरस (COVID-19) महामारी के खिलाफ लड़ाई में मदद करने के लिए फेस मास्क दान करने के लिए द्वीप देश और उसके अस्पताल कर्मियों को धन्यवाद देने के लिए नीदरलैंड ने ट्यूलिप के साथ साथ stroopwafels भी दिया।Sense Hofstede@sehof

For the occasion of today’s King’s Day, the Dutch office in Taiwan has transported 3999 tulips from the Netherlands to give to CECC and frontline workers. Stroopswafels also provided. https://www.cna.com.tw/news/firstnews/202004270061.aspx …荷蘭國慶空運3999朵鬱金香來台 向醫護致謝 | 政治 | 重點新聞 | 中央社 CNA武漢肺炎疫情持續延燒,荷蘭貿易暨投資辦事處表示,今天是荷蘭的國慶日國王節,專程空運3999朵荷蘭國花鬱金香,並配合焦糖煎餅送往流行疫情指揮中心等地,加深台荷情誼。cna.com.tw17Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयताSense Hofstede के अन्य ट्वीट देखें

साथ ही ताइवान में मौजूद अपने ऑफिस का नाम The Netherlands Trade and Investment Office से बदल कर “Netherlands Office Taipei,” कर लिया।Elaine Tsao@ElaineTsao

Netherlands de facto embassy in Taiwan @NTIO_Taiwan just changed its official name from “NL Trade& Investment Office in TW” to “Netherlands Office Taipei”, which is seen as a big step forward. Also today, the office transported 3999 tulips to give frontline medical workers in TW.

Twitter पर छबि देखें

168Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता49 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

इस बदलाव का स्पष्ट संदेश है कि ताइवान को अब Netherlands अपना साथी देश मानता है और उसे अंतराष्ट्रीय मान्यता देना चाहता है।

लेकिन चीन Netherlands द्वारा किए गए इस बदलाव से पूरी तरह से जल भून गया है और उसके गुस्से की कोई सीमा नहीं रही। चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है न कि एक अलग देश। यही कारण है चीन ताइवान के सभी अंतर्राष्ट्रीय संबंध को बंद कर देना चाहता है और उसे किसी भी अंतराष्ट्रीय संगठन में शामिल नहीं होने देना चाहता है। इसीलिए वह अन्य देशों द्वारा ताइवान का नाम लिए जाने पर चिढ़ जाता है। यहां तो Netherlands  ने एम्बेस्सी का नाम ही बदल लिया जो चीन को बिलकुल रास नहीं  आया। बौखलाए चीन ने तुरंत Netherlands  की राजधानी हेग में अपनी एम्बेस्सी के जरीय अपना विरोध दर्ज कराया और इस बदलाव का स्पष्टीकरण मांगा। चीन यही नहीं रुका उसने Netherlands  को चीन द्वारा दी जा रही मेडिकल सप्लाइ बंद करने की धमकी दी। साथ ही चीन ने यह भी धमकाया कि चीन के लोग डच सामानों का उपयोग बंद कर देंगे। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के मुखपत्र द्वारा यह दावा किया गया कि चीन के लोग ह                                                                                                                                                सोशल मीडिया पर चीनी कंपनियों को Netherlands  को दी जा रही मेडिकल सप्लाइ बंद करने की मांग कर रहे हैं। यह नहीं भूलना चाहिए कि चीन किस तरह से सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगा कर रखता है और अपने प्रोपोगेंडे को ग्लोबल टाइम्स के द्वारा दुनिया को बताता है।

चीन की इस धमकी से यह तो पता चल जाता है कि पहले उसने घटिया मास्क देकर Netherlands के साथ धोखा किया और अब जब ताइवान ने उसकी मदद की है और वे दोनों अपने राजनयिक संबंध बढ़ा रहे हैं तो अब चीन को चिढ़ मच रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.