भरतपुर-मथुरा सीमा पर राजस्थान पुलिस ने यूपी पुलिस पर किया पथराव, सीमा पार कराने को लेकर भिडंत

ट्रेंडिंग

दूसरे राज्‍यों से पलायन कर अपने घरों को लौटने के इच्‍छुक मजदूरों को लेकर राज्‍य की सीमाओं पर तनाव की स्थिति है। आज सुबह यूपी और राजस्‍थान की पुलिस में यह तनाव संघर्ष में बदल गया। दरअसल, राजस्थान पुलिस कुछ मजदूरों को जबरन यूपी में प्रवेश कराना चाहती थी। जब यूपी की मथुरा पुलिस ने उन्हें रोका तो कुछ समय बाद ट्रॉली में भरकर कुछ लोग हाथों में लाठी डंडे लेकर राजस्थान की तरफ से आये और बॉर्डर पर लगे बैरियर को हटाने लगे। इसके बाद मजदूरों ने राजस्थान पुलिस के साथ मिलकर यूपी पुलिस पर पथराव किया। जिसमे दो पुलिसकर्मी घायल हो गए।


जानकारी के मुताबिक, रविवार को हुए इस बवाल की आंच शनिवार को ही लग चुकी थी। शनिवार को मथुरा-भरतपुर सीमा पर राजस्थान की पुलिस प्रवासी श्रमिकों को बिना किसी रिकॉर्ड और थर्मल स्क्रीनिंग के प्रवेश करा रही थी। जब मथुरा पुलिस ने इसका विरोध किया, तो उस वक्त राजस्थान के पुलिसकर्मी मान गए लेकिन देर रात प्रवासी श्रमिकों को यूपी में प्रवेश कराने का प्रयास फिर किया गया। फिर रोकने पर रात को ही दोनों राज्यों में तकरार होने लगी थी।रात भर तकरार के बाद फिर सुबह राजस्थान की तरफ से एक ट्रैक्टर ट्रॉली में भरकर कुछ लोग लाठी-डंडे लेकर आए और उन्होंने मथुरा में जाजन पट्टी पर लगे बैरियर को हटाने की कोशिश की। जाजन पट्टी बैरियर पर तैनात चौकी प्रभारी पुष्पेंद्र सिंह ने सिपाहियों के साथ बैरियर को तोड़ने से बचाने का प्रयास किया।बैरियर और ट्रैक्टर के बीच में आने से चौकी प्रभारी की उंगलियां कुचल गई एक अन्य सिपाही के भी चोटें आई हैं। चौकी प्रभारी ने बताया ट्रैक्टर ट्रॉली में सवार जो व्यक्ति आए थे राजस्थान पुलिस के पुलिसकर्मी थे और उनके साथ कुछ गुंडे थे। वहीं विवाद के दौरान बहुत से श्रमिकों को राजस्थान पुलिस ने मथुरा में प्रवेश भी करा दिया है। पुलिस उन श्रमिकों की तलाश कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.