चीन ने पाकिस्तान की दोस्ती का उडाया मजाक, भेज दिए अंडरवेयर से बने मास्क

ट्रेंडिंग

इस्लामाबाद। कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे पाकिस्तान को उसके सदाबहार मित्र चीन ने ही ;धोखा दे दिया है। दरअसल, चीन ने मेडिकल सप्लाई भेजने का वादा किया था और जब चीन से आए सामानों को खोलकर देखा गया तो पता चला कि एन-95 मास्क की जगह अंडरवेयर से बने मास्क पाकिस्तान को पकड़ा दिए गए हैं। यूरोप के कई देशों ने भी इससे पहले शिकायत की थी कि चीन से भेजे गए मास्क और किट खराब गुणवत्ता के हैं। स्पेन और नीदरलैंड्स ने तो मेडिकल सप्लाई वापस करने का भी फैसला कर लिया। चीन ने पिछले दिनों पाकिस्तान से वादा किया था कि वह उसे एन-95 मास्क भेजेगा। पाक पीएम इमरान खान आए दिन कोरोना वायरस से लड़ने की तैयारियों को लेकर अपने भाषणों में चीन का गुणगान करते देखे जाते हैं, लेकिन उन्हें पता ही नहीं था कि इस गुणगान से उन्हें कोई फायदा नहीं होने वाला। पाक मीडिया के मुताबिक, जब चीन से मेडिकल सप्लाई पाकिस्तान पहुंची तो मेडिकल स्टाफ उसे खोल कर हैरान रह गया क्योंकि ये अंडरवेयर से बने मास्क थे। हैरानी की बात यह है कि सिंध की प्रांतीय सरकार ने बिना जांच किए ही अस्पतालों में ये मास्क भी भेज दिए।इससे पहले चीन ने आगे बढ़कर मेडिकल सप्लाई भेजने के लिए गिलगित-बाल्टिस्तान से लगी सीमा को खोलने का अनुरोध किया था। चीनी दूतावास ने पाक विदेश मंत्रालय के नाम चिट्ठी में कहा था कि शिजियांग उइगुर स्वायत्त क्षेत्र पाकिस्तान को मेडिकल सप्लाई भेजना चाहता है। इस अनुरोध पर पाक भी फूला नहीं समाया, लेकिन उसे कहां पता था कि चीन उसके साथ ठगी कर लेगा। विदेश मंत्रालय के नाम चिट्ठी में चीन ने लिखा था कि वह उसे 2 लाख सामान्य मास्क, दो हजार एन-95 मास्क, पांच वेंटिलेटर और 2 हजार टेस्टिंग किट भेजेगा। अभी हालांकि, यह पता नहीं चल पाया है कि मास्क के अलावा किसी अन्य मेडिकल सप्लाई में कोई खामी पाई गई है या नहीं। पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या शनिवार को बढ़कर 2,708 हो गई। अकेले पंजाब प्रांत में इसका आंकड़ा 1000 के पार पहुंच गया है। ‘नेशनल हेल्थ सर्विसेज’ के मुताबिक कोविड-19 के कारण अब तक 40 लोगों की जान जा चुकी है, हालांकि देश में 140 लोग इसके संक्रमण के बाद ठीक भी हुए हैं।पाकिस्तान में इस बीमारी के मुख्य केंद्र के तौर पर पंजाब प्रांत उभरा है जहां कुल 1072 मामले सामने आए हैं। सिंध में 839, खैबर पख्तूनख्वा में 343, बलूचिस्तान में 175, गिलगित-बाल्तिस्तान में 193, इस्लामाबाद में 75, पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में 11 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है।<br /> अधिकारियों ने कहा कि इस घातक वायरस की रोकथाम के लिए उठाए जा रहे सरकार के तमाम कदमों के बावजूद देश में इस बीमारी का प्रसार तेजी हो रहा है। विश्व बैंक ने शुक्रवार को कोरोना वायरस के प्रभाव से निपटने में मदद के लिए 20 करोड़ अमेरिकी डॉलर की सहायता मंजूर की है। रेडियो पाकिस्तान के मुताबिक ‘पाकिस्तान में प्रभावी तरीके से महामारी प्रतिक्रिया’ शीर्षक वाली यह परियोजना सरकार को बीमारी के खिलाफ प्रतिक्रिया देने और जन स्वास्थ्य तैयारियों के लिए एक राष्ट्रीय तंत्र को मजबूत बनाने में मदद देगी।<br /> कोविड-19 महामारी का प्रकोप कब तक रहेगा इस बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं है। ऐसे में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को निर्माण क्षेत्र के लिए एक व्यापक पैकेज की घोषणा की जिससे अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.