बोले फ्रेंच लेखक – “हे हिन्दुओ, तुम घट क्यों रहे हो, तुम इतना डरते क्यों हो, हर जगह से पलायन तुम ही कर रहे हो”

ट्रेंडिंग

क्या आज का जो भारत है जिसे आप इंडिया भी कहते है, यही असली भारत है ? जवाब है बिलकुल नहीं, अभी सिर्फ कुछ ही दशक पहले इस भारत के टुकड़े टुकड़े कर 2 इस्लामी देश बना दिए गए, कभी लाहौर, कराची भारत के ही प्रमुख शहर थेहिन्दू सेक्युलर होता गया, फर्जी भाईचारा निभाता गया, घटता गया और कटता गया, हिन्दू की ये ही स्तिथि है और इसी कारण आज जो बचा कूचा भारत है वहां के भी कई इलाकों से हिन्दू बस भाग रहा है, ख़त्म हो रहा है अभी कुछ ही दिनों पहले एक रिपोर्ट सामने आयी है जिसमे ये जानकारी सामने आयी है की हरियाणा के मेवात में अब ऐसे 50 गाँव है जहाँ 1 भी हिन्दू नहीं बचा, इन सभी गाँव में कभी हिन्दू बहुसंख्यक थे, पुरे मेवात से हिन्दू भाग रहे है, उनको जीने नहीं दिया जा रहा ऐसी ही रिपोर्ट कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश के कैराना से भी आयी थी, बंगाल, केरल कश्मीर, और ये सब छोड़िये देश का हर शहर, और हर शहर में बन चुके मिनी पाकिस्तान, यहाँ से हिन्दू पलायन करते है, भागते है, उनको जीने नहीं दिया जाता, सबसे बुरा हाल हिन्दू की बहन बेटियों का होता है, और बचे कूचे भारत में भी हिन्दू धीरे धीरे अल्पसंख्यक ही होता जा रहा है 



इस बात को भारत के हिन्दू तो कदाचित नहीं समझ रहे पर फ्रेंच लेखक फ्रांकोइस गौटिएर ने इस बात को बड़ी  बेबाकी से कहा 

फ्रेंच लेखक फ्रांकोइस गौटिएर ने कहा की – हे हिन्दुओ तुम लोग आज भी भारत में 80 करोड़ से ज्यादा हो, दुनिया में हर सातवां व्यक्ति हिन्दू है, पर तुम लोग हर जगह से भागते क्यों हो, पलायन तुम ही लोग क्यों करते हो, तुम लोग अल्पसंख्यक की तरह बर्ताव क्यों करते हो फ्रेंच लेखक फ्रांकोइस गौटिएर ने आगे कहा की – हे हिन्दुओ तुम लोग इस धरती पर ऐसे एकमात्र समाज हो जो कभीधर्मांतरित नहीं हुआ, पर अब तुम लोगो के अंदर की क्षत्रिय भावना कहाँ चली गयी है फ्रेंच लेखक फ्रांकोइस गौटिएर की बात भले आपको कड़वी लगे, पर आप पाकिस्तान बांग्लादेश, फिर कश्मीर, कैराना, केरल, बंगाल, मेवात, दिल्ली के इलाके याद कर लेना फिर आपको उनको बात सच लगेगी