भारतीय सेना की 5 सबसे खतरनाक गाड़ियां, इन गाड़ियों पर छोटे-मोटे बम का नही होता असर

ट्रेंडिंग

भारतीय सेना दुनिया की सबसे शक्तिशाली सेनाओं में गिनी जाती है। तो जाहिर सी बात है कि इस सेना को शक्तिशाली बनाने का काम पहले तो जोश से भरे सैनिक करते है और दूसरी ओर अत्याधुनिक हथियारों की भी मदद ली जाती है। तो दोस्तों इस पोस्ट में आज हम आपको भारतीय सेना की पांच सबसे खतरनाक गाड़ियों से रूबरू करवाने वाले है।

इस लिस्ट में पहलीं कार महिंद्रा एमपीवी है। ये एक बेहद मजबूत ट्रक है जिसे खतरनाक इलाकों में सैनिकों की जिंदगी को बचाने के लिए बनाया गया है। इस ट्रक में एक बार मे 18 लोग बैठ सकते है। ये बुलेट प्रूफ ट्रक है जो छोटे-मोटे बम धमाकों को आराम से झेल सकती है।

इस लिस्ट में दूसरी गाड़ी टाटा मोटर्स द्वारा बनाई गई 12×12 मिसाइल कैरियर है। इस ट्रक में बेहद पावरफुल डीजल इंजन दिया गया है जो 525 बीएचपी का पावर 2000 न्यूटन मीटर के टार्क पर प्रदान करता है। एक बार मे यह ट्रक 33 टन के वजन को ले जा सकती है। ज्यादा बड़ी होने की वजह से इसकी टॉप स्पीड 80 किमी/घंटे तक सीमित है।

इस लिस्ट में तीसरी कार रेनो शेरपा है। ये एक एसयूवी है जिसे सीआईएसएफ और एनएसजी कमांडो भी इस्तेमाल करते हैं। इस कार में 4.7 लीटर का डीजल इंजन दिया गया है जो 215 बीएचपी का पावर 800 न्यूटन मीटर के टार्क पर प्रदान करता है। इसे अक्सर दंगो के दौरान इस्तेमाल किया जाता है।

इस लिस्ट में चौथे नंबर पर टाटा केस्ट्रल है। इसे सड़क के साथ पानी में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। टाटा केस्ट्रल में मौजूद डीजल इंजन 600 बीएचपी का पावर प्रदान करता है। इस कार में 8 टायर दिए गए हैं।

इस लिस्ट में पांचवे नंबर पर टाटा मोटर्स की एमपीवी है। ये एक ट्रक है जिस पर माइन का असर नही होता है। इसमें दिया गया डीजल इंजन 242 बीएचपी का पावर 925 न्यूटन मीटर के टार्क पर प्रदान करता है। ज्यादा वजन की वजह से इस ट्रक की अधिकतम रफ्तार सिर्फ 80 किमी/घंटे की है।