इस दवा से मात्र 48 घंटे में खत्म हुआ कोरोना, लैब में हुआ सफल परीक्षण

ट्रेंडिंग

पूरी दुनिया के लोग कोरोना के कहर से मारे जा रहे हैं. आपको बता दें इस वायरस का अबतक कोई हल नहीं निकल पाया हैं. लेकिन पूरी दुनिया के डॉक्टर्स, वैज्ञानिक इस वायरस के इलाज़ को ढूंढने में लगे हैं. आपको बता दें दिन प्रतिदिन इसके प्रकोप से मरने वालों की संख्या बढती जा रही हैं. सबसे ज्यादा बुरा हाल इटली का हैं. ऐसे में सारे वैज्ञानिक इसके काट को ढूंढने में लगे हैं. एक ऐसी ही दवा जो हमारे पास पहले से मौजूद हैं उससे वायरस को खत्म करने की संभावना सबसे ज्यादा हैं. आइये आपको बताते हैं नाम.

ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि एक आम एंटी-पैरासाइट ड्रग यानी परजीवी रोधी दवा कोरोना के खिलाफ कारगर साबित हो सकती है। शोधकर्ताओं ने लैब में विकसित कोशिकाओं पर इसका सफल परीक्षण किया है। एंटी-पैरासाइट ड्रग परजीवी से होने वाली बीमारियों के इलाज में काम आते हैं। एंटीवायरल रिसर्च नामक पत्रिका में प्रकाशित शोध के मुताबिक, लैब में कोरोना वायरस से संक्रमित कोशिका से इस वायरस को महज 48 घंटे में ही खत्म कर दिया गया। शोधकर्ताओं ने पाया कि पहले से ही मौजूद एक एंटी-पैरासाइट ड्रग ने कोरोना वायरस को खत्म कर दिया। यह इलाज की दिशा में बड़ी कामयाबी है.

इससे अब क्लीनिकल ट्रायल का रास्ता साफ हो सकता है। शोध के मुताबिक, इवरमेक्टीन नामक दवा की सिर्फ एक खुराक कोरोना वायरस समेत सभी वायरल आरएनए को 48 घंटे में खत्म कर सकता है। अगर संक्रमण ने कम प्रभावित किया है तो वायरस 24 घंटे में भी खत्म हो सकता है। बता दें कि आरएनए वायरस उन वायरस को कहा जाता है जिनके जेनेटिक मैटीरियल में आरएनए यानी रिबो न्यूक्लिक एसिड होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.