चीनी सैनिकों ने कील लगे डंडो से किया हमला तो टूट पडे भारतीय सेना के जवान, उन्ही के डंडो से…

ट्रेंडिंग

नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच लद्दाख बॉर्डर पर गलवान घाटी के पास हालात गंभीर हो गए हैं. सोमवार रात को यहां भारत और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई, इसमें भारत के एक अफसर और दो जवान शहीद हो गए हैं. इस बीच सूत्रों की मानें, तो चीनी सैनिकों ने इस दौरान कीलें लगी लठों से जवानों पर हमला किया, जिसकें बाद भारतीय सेना के जवानों ने भी चीनी सैनिकों पर हमला बोल दिया। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के अनुसार चीन के 5 सैनिक मारे गये, जबकि 11 घायल हो गये है।

सूत्रों की मानें तो जब बॉर्डर कमांडर की बैठक हुई तो उसमें तय हुआ कि PP14-15-17 पर चीन LAC के उस ओर जाएगा, लेकिन चीनी सैनिकों ने इसे मानने से इनकार किया गया. भारत की ओर से बार-बार चीन को समझाया गया, चीन ने इस दौरान हमला किया गया.

सूत्रों ने कहा कि चीनी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों पर पत्थरबाजी की, उनके पास लोहे के नाल, कीलें और लठ से भारत के सेना पर हमला किया. जो अफसर इस मामले को लीड कर रहे थे, उन्हें इसी पथराव-झड़प में काफी गहरी चोट आई हैं. इसके बाद भारतीय जवानों ने चीनी सैनिकों पर हमला बोल दिया जिसमें 5 चीनी सैनिक मारे गये, जबकि 11 घायल हो गये।

लेकिन इस बीच चीन ने उल्टा भारत पर इल्जाम लगाना शुरू कर दिया है. चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारत की ओर से घुसपैठ की कोशिश की गई, जिसके बाद दोनों देशों के सैनिकों में भिड़ंत हुई. अब हम भारत से अपील करते हैं कि एकतरफा एक्शन ना लें.

इस पूरे मामले को लेकर भारतीय सेना की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है, ‘गलवान घाटी में सोमवार की रात को डि-एस्केलेशन की प्रक्रिया के दौरान भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई. इस दौरान भारतीय सेना के एक अफसर और दो जवान शहीद हो गए हैं. दोनों देशों के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी इस वक्त इस मामले को शांत करने के लिए बड़ी बैठक कर रहे हैं.