लद्दाख में मारे गए चीन के 40-50 सैनिक, चीन को भयंकर नुक्सान, संख्या पर चुप हो गई है चीनी सरकार

ट्रेंडिंग

चीनी विदेश और सुचना मंत्रालय ने लद्दाख के गलवान वैली में मारे गए चीनी सैनिको की संख्या बताने से साफ़ इंकार कर दिया है, भारतीय सेना और चीनी सेना के बीच 15 जून की रात को झड़प हुई थी इस झड़प में चीन को बहुत भयंकर नुक्सान पहुंचा है और कई सूत्रों के मुताबिक चीन के 40 से 50 सैनिक मारे गए है, चीन की मीडिया के संपादको और पत्रकारों ने 5 चीनी सैनिको के मरने और 11 के घायल होने की बात को स्वीकार किया है पर आंकड़ा कहीं ज्यादा है
देखिये किस प्रकार चीन के सबसे बड़े मीडिया हाउस ग्लोबल टाइम्स का मुख्य संपादक आंकड़ों पर गोल गोल बाते कर रहा है, ये कह रहा है की हम आंकड़े नहीं बताएँगे ताकि दोनों देशों के लोग तुलना न करे, हम लोग गुडविल चाहते है
Hu Xijin 胡锡进@HuXijin_GT

Chinese side didn’t release number of PLA casualties in clash with Indian soldiers. My understanding is the Chinese side doesn’t want people of the two countries to compare the casualties number so to avoid stoking public mood. This is goodwill from Beijing.2,380Twitter Ads info and privacy3,258 people are talking about thisहुआ ये है की – चीनी सेना और भारतीय सेना के बीच एक पहाड़ी पर झड़प हुई है और पहाड़ी पर भारतीय सैनिको की पोजीशन ज्यादा मजबूत और अच्छी थी, भारतीय सैनिको की संख्या भी अच्छी थी 


झड़प बहुत भीषण हुई, और कई चीनी सैनिको को भारतीय सैनिको ने वहीँ ढेर कर दिया और 40 से ज्यादा चीनी सैनिक पहाड़ी से नीचे खाई में गिरकर मारे गए हैचीन आंकड़े नहीं बता रहा है क्यूंकि चीन के साइड भयंकर नुक्सान हुआ है और चीन इतने बड़े नुक्सान को स्वीकार करना नहीं चाहता Abhijit Iyer-Mitra@Iyervval · Replying to @Iyervval

6n the Chinese side are expected to be around 40-50, significant fatalities given the sheer drop and jagged rocks. Indian fatalities also resulted from pushing off the ridge as indicated earlier in the quoted tweet, our fatality numbers will rise. Efforts on to ascertain ifAbhijit Iyer-Mitra@Iyervval

7n the missing are apprehended or fell into the ravine. It’s probably better news if they are in fact hostages.433Twitter Ads info and privacy116 people are talking about thisबता दें की चीन को ये उम्मीद ही नहीं थी की भारतीय सेना से झड़प पर उसका ये हाल होगा, उसके 40 से 50 सैनिक मारे गए है और इस कारण चीन के होंश उड़ गए है और इसी कारण वो शांति, गुडविल की बातें अब कर रहा है