पलट गया पूरा गेम, ट्रम्प से हुई बात, भारत को मिलेगा F-35, चीन की पूरी एयरफाॅर्स का खतरा ख़त्म

ट्रेंडिंग


एक के बाद एक अब दुनिया भर के देश चीन की जगह भारत के साथ खड़े होते दिखाई देने लगे है, पाकिस्तान के बाद अब चीन अलग थलग पड़ रहा है, प्रधानमंत्री मोदी की कूटनीति और दुनिया भर के देशों के नेताओं से रिश्ते भारत के काम आ रहे है पहले रूस ने इमरजेंसी में हथियार सप्लाई करने के लिए हां की, फिर इजराइल ने नए लजेर गाइडेड मिसाइल और एयर डिफेन्स सिस्टम के लिए हां कर दी, फिर आज फ़्रांस ने 6 राफेल इमरजेंसी में 27 जुलाई तक डिलीवर करने के लिए हां कर दी और अब बड़ी जानकारी अमेरिका को लेकर आ रही है प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प लगातार संपर्क में है, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भी अमेरिका से लगातार संपर्क बनाये हुए है और जानकारी ये सामने आई है की अमेरिका अपना अत्याधुनिक फाइटर जेट F-35 भारत को देगा


पहले अमेरिका ने ये शर्त रखी थी की भारत रूस से S-400 डिफेन्स मिसाइल सिस्टम की डील को रद्द कर दे और बदले में अमेरिका भारत को F-35 देगा, पर अब प्रधानमंत्री मोदी की कूटनीति काम कर रही है और अमेरिका F-35 देने को तैयार हो गया है, बातचीत आखिरी दौर में चल रही है 

F-35 पांचवी जनरेशन का फाइटर जेट है और ऐसा कोई फाइटर जेट चीन के पास नहीं है, चीन ने अमेरिकी F-22 राप्टर की कॉपी बनाई है जिसे वो J-20 बताता है पर वो किसी काम की नहीं है
पूरी चीनी वायु सेना F-35 के सामने फेल है
F-35 पांचवी पीढ़ी का स्टील्थ फाइटर जेट है और ये भारत में आते ही भारत चीन की पूरी वायु सेना पर भारी हो जायेगा और पूरा गेम ही पलट जायेगा, भारत F-35 लेने की आधिकारिक घोषणा कभी भी कर सकता है और इसे लेकर चीन में अभी से कंपकपी भी शुरू हो चुकी है