राजस्थान में ऑडियो वायरल- MLA कह रहे हैं- हमारे साथी दिल्ली में बैठे हैं… वे पैसे भी ले चुके हैं

ट्रेंडिंग

New Delhi : राजस्थान में पिछले सात दिनों से चल रही सियासी उठापटक में गुरुवार देर रात हुए घटनाक्रम ने सभी को चौंका दिया। दरअसल, इस दौरान विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़ी बातचीत के तीन ऑडियो वायरल हुए। इन ऑडियो में एक व्यक्ति खुद को संजय जैन और दूसरा खुद को गजेंद्र सिंह बता रहा है। दो ऑडियो में बातचीत राजस्थानी में है। जबकि तीसरे में हिंदी और अंग्रेजी में बातचीत हो रही है।

बहरहाल इस वायरल आडियो के बाद राजस्थान पुलिस हरकत में आ गई है। पुलिस ने संजय जैन को गिरफ्तार कर लिया है। सूत्रों के अनुसार, विधायकों की खरीद-फरोख्त के सिलसिले में जैन से कांग्रेस पार्टी के एक विधायक संपर्क में थे।
ऑडियो में बातचीत बहुत स्पष्ट नहीं है। लेकिन, तीनों ऑडियो को सुनने से ऐसा लग रहा है कि यह विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़े हैं। ऑडियो में एक व्यक्ति कह रहा है कि जल्द ही 30 की संख्या पूरी हो जायेगी। फिर राजस्थानी में वह विजय भव: कहता है।
एक व्यक्ति बातचीत के दौरान कह रहा है – हमारे साथी दिल्ली में बैठे हैं…वे पैसा ले चुके हैं। पहली किस्त पहुंच चुकी है। बातचीत के दौरान खुद को गजेंद्र सिंह बताने वाला व्यक्ति सरकार को घुटने पर टिकाने की बात कर रहा है। वह यह भी कह रहा है – करीब 8 से 10 दिन रुकने के लिये कहा जा रहा है। ऐसे में ज्यादा समय तक बाड़े में नहीं रह सकते हैं। जैसे ही छोड़ेंगे लोग अपने पास आ जायेंगे।

पहला ऑडियो : इसमें एक व्यक्ति कह रहा- जो साथी हमारे दिल्ली में बैठे हैं वो पैसा ले चुके हैं। पहली किश्त पहुंच चुकी है। फिर कब मिल रहे हैं, कल? दूसरा- कल सुबह जल्दी 8 बजे मिलते हैं। पहला- नहीं, आप आराम से आओ 11 बजे तक। दूसरा- मुझे उसी दिन वापस भी आना है। पहला- नहीं। दूसरा- क्यों। पहला- हम वापस नहीं ले सकते न। दूसरा- ऐसा करते हैं सुबह मिलते हैं। मुझे कुछ और काम भी है दिल्ली में। 8-9 बजे वो निपटा लेता हूं, फिर जब आप कहोगे तब मिल लेंगे। फोन पर कम। पहला- अब हम लीगली मूव करेंगे। दूसरा- आपका एक्शन डिसाइड हो गया न। पहला- कैसे। दूसरा- आप कौन सी लाइन ले रहे हैं। पहला- हां, हम लाइन ले रहे हैं। दूसरा- आप उन्हीं के साथ हैं न। पहला- हां। दूसरा- चांदना को कोई फोन नहीं आया। पहला- नहीं और न ही मैंने किया।

दूसरा वायरल ऑडियो : पहला- अकेले ही हो न। दूसरा- हां। पहला- दो-तीन दिन में संख्या पूरी हो जाएगी। दूसरा- हां। पहला- मैंने बता दिया है कि 2 जने हैं जो हिचकिचा रहे हैं, उनकी डायरेक्ट आप से बात है। कहीं भी कोई दिक्कत नहीं है तुरंत काम होगा। दूसरा- हां। पहला- अब सचिन की लिस्ट देंगे तो कह देना की साहब मेरी बात हो रखी है नाम मत लेना। दूसरा- हां, कह दूंगा। पहला- गजेंद्र जी से बात करा दीजिए। दूसरा- अभी करा देता हूं। पहला – हां करा दो। तीसरा व्यक्ति- गजेंद्र सिंह बोल रहा हूं महाराज। दूसरा- आपको आशीर्वाद देता हूं, विजयी भव:। तीसरा- अरे आपके साथ विजयी हैं। दूसरा- 1-2 दिन में संख्या पूरी हो जाएगी। तीसरा- संजय जी ने भी बात की। अब हमें 8 से 10 दिन रुकने की हिम्मत रखनी होगी। राज इतने दिन बाड़ेबंदी में नहीं रह सकता। जैसे ही बाहर आएंगे अपने पास आएंगे। दूसरा- मैं भी समझता हूं होटल से राज नहीं चलता। संख्या बल है नहीं। बाकी संजय की बात हो गई होगी। मेरा लिस्ट में नाम नहीं है। ठीक साहब।

तीसरा ऑडियो : तीसरा ऑडियो पहला- हैलो दूसरा- हां, ठीक है साहब सारी बात हो गई। कोई शंका नहीं रही। पहला- हां, अब सरकार हो नहीं सारे तो प्रयास करने पड़े। दूसरा- अपना तो ठीक है बाकी आप देखो एक बार संख्या बल हो जाए, तो मैं पूरा प्रोग्राम आपको बता ही दिया है। पहला- हां, ठीक है। दूसरा- मेरे पास आपकी और एक जिम्मेदारी है, आपकी बात हो गई। पहला- ठीक है। दूसरा- आपकी वरिष्ठता का पूरा ध्यान रखा जाएगा। चिंता मत करो। पहला- ठीक है दूसार- अब तो बस चेतन डूडी और बलवंत पूनिया पहला- चेतन डूडी भी आएगा, बलवंत पूनिया भी आएगा, और भी आएंगे। दूसरा- फिर तो बढ़िया हो जाएगा।