उपचुनाव से पहलें शिवराज सरकार को लगा बड़ा झटका!! फिर आयेगी कमलनाथ…..???

ट्रेंडिंग

मध्यप्रदेश में सितम्बर अंत तक प्रस्तावित उपचुनाव (by election) से पहले आरोप-प्रत्यारोप का दौर चरम पर है। प्रदेश कांग्रेस ने सोमवार को शिवराज सरकार पर अनेक आरोप लगाए। कांग्रेस ने कहा है कि कांग्रेस छोड़ भाजपा में जाने वाले विधायकों के खिलाफ मोर्चा खोला जाएगा। साथ ही उन्हें जनता के सामने एक्सपोज कर दिया जाएगा।

कांग्रेस (congress) ने यह बयान सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस में दिया है। इसमें प्रदेश कांग्रेस के मीडिया प्रभारी जीतू पटवारी (jitu patwari) समेत अनेक नेता भी मौजूद थे। पटवारी ने कहा कि भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायकों के लिए कांग्रेस मोर्चा खोलने वाली है। इसके साथ ही ऐसे विधायकों को एक्सपोज भी किया जाएगा। गौरतलब है कि हाल ही में कांग्रेस ने एक सर्वे भी कराया, जिसमें दावा किया जा रहा है कि मध्यप्रदेश में भाजपा के खाते में सिर्फ एक सीट ही जा रही है, बाकी सभी सीटें कांग्रेस जीत रही है।

इस प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश कांग्रेस के मीडिया प्रभारी जीतू पटवारी के अलावा सचिन यादव, कमलेश्वर पटेल, हर्ष यादव, सिद्धार्थ कुशवाहा, राहुल लोधी, दिलीप सिंह गुर्जर, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता विभा पटेल मौजूद थीं।

प्रेस कांप्रेंस में और क्या बोले नेता

पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि 15 साल में भाजपा के पिछड़ा वर्ग के मुख्यमंत्री रहे। इस दौरान ओबीसी के आरक्षण का काम नहीं किया गया। कमलनाथ सरकार ने 14 से बढ़कर 27 फीसदी किया। कोर्ट में मामले की सुनवाई चल रही है। पटेल ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि वे प्रदेश में आरक्षण लागू करें और मजबूती से इस संबंध में अपना पक्ष रखें।

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा है कि प्रदेस के निष्ठावान विधायक 500 फीसदी हमारे साथ हैं। भाजपा का हिंसा और अहंकार का चरित्र है, जो सभी के सामने आ गया है। इस मौके पर दिलीप गुर्जर ने कहा कि भजपा सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे।


सिद्धार्थ कुशवाहा ने कहा कि हमारी पार्टी भी वरिष्ठ वकील को पेश करना चाहती है। युवा पलायन नहीं करेगा। मैनें सबसे मुश्किल दौर में कांग्रेस को चुना। मैं कांग्रेस के साथ। भाजपा के बहुत सारे विधायक मेरे संपर्क में हैं। सिद्धार्थ ने कहा कि जाने वालों की कुछ मजबूरियां रही होंगी। हमसे सभी विधायक संपर्क में हैं।

थोड़ी देर पहले भी कसा था यह तंज
सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस से थोड़ी देर पहले भी जीतू पटवारी ने एक ट्वीट करके भाजपा पर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि क़ोरोना की महामारी में Community Spread हो गया..। पाकिस्तान को कश्मीर चाहिए, नेपाल को उत्तराखंड चाहिए, चीन को लद्दाख चाहिए, पूरे देश को इसके ख़िलाफ़ एकजुटता से लड़ना है लेकिन यहां तो भाजपा को कांग्रेस के MLA चाहिए..!

जीतू पटवारी बोले- शिव विदा होंगे, कमलनाथ का स्वागत करेंगे

इससे पहले रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निवास पर उपचुनाव की तैयारियों और असंगठित नेताओं को संगठित करने के लिए बैठक बुलाई गई थी। पटवारी ने इस मौके पर मीडिया से बात करते हुए मध्य प्रदेश की राजनीति पर तंज कसते हुए कहा है कि शिवराज (cm shivraj singh chauhan) जल्द ही विदा लेने वाले हैं, जिनकी जगह कमलनाथजी (kamal nath) लेने वाले हैं। पटवारी ने कहा कि पार्टी उपचुनाव की विस्तृत चर्चा और रणनीतियां तय करने के बाद जनता के सामने जाएगी।

सितंबर के अंत तक हो सकते हैं चुनाव
इधर, मुख्य चुनाव आयोग सुनील अरोड़ा ने एक बयान में कहा है कि सितम्बर अंत तक मध्यप्रदेश में उपचुनाव कराए जा सकते हैं। इसकी तैयारी की जा रही है। चुनाव की संभावना को देख सभी राजनीतिक दलों ने भी अपने-अपने स्तर पर तैयारियां तेज कर दी हैं।


26 सीटों पर होंगे चुनाव
देश में यह पहला मौका है जब एक प्रदेश में इतनी सीटों पर एक साथ उपचुनाव होने वाले हैं। 22 विधायक कांग्रेस की कमलनाथ सरकार से इस्तीफा देकर भाजपा में आ गए थे। इनके अलावा दो विधायकों का निधन होने के कारण यह सीटें खाली थीं। इसके बाद पिछले सप्ताह ही दो और कांग्रेस के विधायकों ने भाजपा का दामन थाम लिया है। इस प्रकार अब प्रदेश में 26 सीटों पर उपचुनाव होना है।