बड़ी ख़बर: राजस्थान मामलें पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा…

ट्रेंडिंग

राजस्थान में जारी सियासी हलचल पर हाईकोर्ट ने सचिन पायलट गुट को 24 जुलाई तक की मोहलत दे दी है. हाई कोर्ट ने स्पीकर सीपी जोशी से कहा कि आप 24 जुलाई तक कोई भी कार्यवाही नहीं करेंगे. अभी हाई कोर्ट में चर्चा इस बात को लेकर हो रही है कि क्या 24 जुलाई को फैसला दिया जाए. सचिन पायलट गुट की ओर से विधानसभा स्पीकर के नोटिस के खिलाफ याचिका दायर की गई थी. जिसके बाद ये याचिका सुप्रीम कोर्ट में दायर की गयी हैं. आइये आपको बताते हैं आज क्या हुआ हैं.

सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को राजस्थान के विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी की याचिका पर सुनवाई हुई. सचिन पायलट गुट ने नोटिस दिए जाने के खिलाफ हाईकोर्ट में दलील दी थी, जिसपर HC ने स्पीकर को अभी कोई निर्णय ना लेने को कहा था. इसीपर स्पीकर ने SC का रुख किया. गुरुवार को सुनवाई के दौरान वकील कपिल सिब्बल और अदालत के बीच कई सवाल-जवाब हुए. अदालत में अब इस मामले की सुनवाई सोमवार को होगी, कल आने वाले हाईकोर्ट के फैसले पर हर किसी की नजरें हैं.

कपिल सिब्बल: जब तक विधानसभा स्पीकर की ओर से कोई फैसला ना लिया जाए, तबतक मामले में दखल नहीं दिया जा सकता है. सुप्रीम कोर्ट: नोटिस किसने भेजा था? कपिल सिब्बल: पार्टी व्हिप ने बैठक के लिए नोटिस भेजा था. सुप्रीम कोर्ट: क्या व्हिप पार्टी बैठकों के लिए है या फिर सिर्फ विधानसभा में बैठकों के लिए? कपिल सिब्बल: व्हिप का कोई मुख्य विषय नहीं था.

सुप्रीम कोर्ट: ये कोई साधारण केस नहीं है, आप सभी चुनकर आए हैं. पार्टी ने अभी तक कोई फैसला क्यों नहीं लिया? इस तरह लोकतंत्र की आवाज को दबाया नहीं जा सकता है.कपिल सिब्बल: मैं यहां स्पीकर की ओर से हूं, मुझे नहीं मालूम. अभी उन्हें बताना बाकी है कि वो होटल में क्यों हैं? सुप्रीम कोर्ट: स्पीकर का कोई प्रभावित पक्ष नहीं होता है. हाईकोर्ट ने स्पीकर को एक दिन का इंतजार करने को कहा है.. आप इंतजार क्यों नहीं कर सकते? आखिरी के दो ही शब्द निर्देश की बात कर रहे हैं.कपिल सिब्बल: आप उन्हें हटवा दीजिए, अदालत स्पीकर को निर्देश नहीं दे सकता है.