चीन ने ट्रंप से बदला लेने के चक्कर मे उठा लिया ऐसा कदम

ट्रेंडिंग

China orders America close its consulate in Chengdu: अमेरिका की ह्यूस्टन में चीनी दूतावास (China consulate in Houston, America) को बंद करने के लिए फैसला लिया गया था जिसका पलटवार करते हुए चीन ने शुक्रवार को अमेरिका को चेंगदू नहीं स्थित अमेरिकी दूतावास को बंद करने का आदेश दे दिया! इसी सिलसिले में चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से बयान जारी किया गया है और कहा गया है कि चीन ने यहां स्थित अमेरिकी दूतावास को अपने फैसले की सूचना दे दी है कि वह चेंगदू में अमेरिकी महावाणिज्य दूतावास (US consulate in Chengdu) की स्थापना एवं संचालन के लिए दी गई अपनी सहमति वापस लेता है! अभी हरकत के बाद अमेरिका और चीन ने तनाव बढ़ सकता है क्योंकि गुरुवार को अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने चीन के अन्य दूतावास भी बंद करने की ध-मकी दी थी!

China orders America close its consulate in Chengdu-

चीन ने कहा कि यह फैसला ह्यूस्टन दूतावास को बंद करने के अमेरिका के ‘एकतरफा’ फैसले के जवाब में था! साथ ही कहा कि चीन का निर्णय अमेरिका के अनुचित कार्यों के लिए एक वैध और आवश्यक प्रतिक्रिया है! अमेरिका ने बुधवार को ह्यूस्टन में चीनी दूतावास को बंद करने का आदेश दिया! उन्होंने कहा कि यह कदम ‘अमेरिकी बौद्धिक संपदा और निजी जानकारी के संरक्षण’ के उद्देश्य से उठाया गया था! अमेरिकी कार्रवाई पर दृढ़ता से प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने इसे ‘तनाव में अभूतपूर्व वृद्धि’ कहा और प्र-तिशोध की चेतावनी दी!

चीन ने गुरुवार को कहा कि ह्यूस्टन में अपने दूतावास को बंद करने के अमेरिकी सरकार के आदेश के पीछे एक “दुर्भावनापूर्ण इरादा” था, और कहा कि उसके अधिकारियों ने सामान्य राजनयिक नियमों से परे कभी काम नहीं किया! वांग ने कहा कि दूतावास को बंद करने का निर्णय “अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन और अंतरराष्ट्रीय संबंधों को नियंत्रित करने वाले बुनियादी नियमों” और “चीन-अमेरिकी संबंध को गंभीर रूप से कमजोर कर दिया!” वांग ने कहा, “यह चीनी और अमेरिकी लोगों के बीच दोस्ती के पुल को तोड़ने जैसा है!”