दर्दनाक हादसा-गुजरात में कोविड अस्पताल में भीषण आग लगने से मरीजों में मचा कोहराम..

ट्रेंडिंग

आग से मरने वालों में 5 पुरुष और 3 महिलाएं शामिल। बताया जा रहा है कि 30 से ज्यादा मरीजों को दूसरी जगह शिफ्ट किया गया है।

  • अहमदाबाद के श्रेय कोविड अस्पताल में गुरुवार तड़के 3:30 बजे आग लगी
  • इसमें कोविड के मरीजों के लिए 50 बेड हैं, हादसे के वक्त 40 से 45 मरीज भर्ती थे

अहमदाबाद के नवरंगपुरा इलाके के कोविड अस्पताल में आग लगने से 8 मरीजों की मौत हो गई। इनमें 5 पुरुष और 3 महिलाएं शामिल हैं। बताया जा रहा है कि 30 से ज्यादा मरीजों को दूसरी जगह शिफ्ट किया गया है।

आग लगने की खबर मिलते ही अस्पताल में मरीजों के परिजन की भीड़ लग गई।

पुलिस के मुताबिक, ‘श्रेय अस्पताल में आग तड़के 3:30 बजे आईसीयू से शुरू हुई। इसके बाद दूसरे वार्ड में फैल गई।’ बताया जा रहा है कि आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी। हालांकि, अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है।इसमें कोविड के मरीजों के लिए 50 बेड हैं। हादसे के वक्त 40 से 45 मरीज भर्ती थे।

पुलिस और फायर बिग्रेड के कर्मचारियों ने मरीजों को दूसरे वार्ड में शिफ्ट किया

मोदी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से मारे गए लोगों के परिवार को 2-2 लाख रुपए देने का ऐलान किया है। इसके अलावा, इस हादसे में जख्मी लोगों को 50 हजार की मदद दी जाएगी। उधर, मुख्यमंत्री रूपाणी ने इस घटना के जांच के आदेश दे दिए हैं। इस जांच का नेतृत्व एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (होम डिपार्टमेंट), संगीता सिंह करेंगी। मुख्यमंत्री ने तीन दिन में रिपोर्ट देने को कहा है।

पुलिस और फायर बिग्रेड के कर्मचारियों ने लोगों को बाहर निकाला
चश्मदीदों के मुताबिक, पुलिस और फायर बिग्रेड के कर्मचारियों ने मरीजों को दूसरे वार्ड में शिफ्ट किया। इनका कहना है कि मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है। उधर, मरीजों के परिजन का कहना है कि अस्पताल प्रबंधन ने आग लगने की जानकारी पुलिस और फायर बिग्रेड को देरी से दी।

श्रेय हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों के बारे में जानकारी लेने के लिए उनके रिश्तेदार और करीबियों को काफी देर तक इंतजार करना पड़ा।

इन लोगों की मौत हुई: वारिस मंसूरी (42), नवनीत शाह (18), लीलाबेन शाह (72), नरेंद्र शाह (51), अरविंद भावसार (72), ज्योंति सिंघी (55), मनुभाई रामी (82) और भाविन शाह (51)।