योगी सरकार को मौलाना का चैलेंज,कुछ भी हो जाए …

ट्रेंडिंग

शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद नकवी ने गुरुवार को धार्मिक आयोजनों के लिए पहले से ही सख्त कोविड प्रोटो कॉल के बाद सभी मुहर्रम आयोजनों पर प्रति बंध लगाने के लिए पुलिस आयुक्त को निशाना बनाया। लखनऊ में, शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद ने ताजियों को मोहर्रम के बीच से घर नहीं ले जाने देने पर पुलिस से नाराजगी जताई है, साथ ही लखनऊ के पुलिस आयुक्त मंजीत पांडे को ज्ञापन देकर ताजिया ले जाने की अनुमति मांगी है।

बताया जा रहा है कि देर रात मौलाना की इस ध-मकी के बाद प्रशासन ने इमामबाड़ा गुफरानमाब में मजलिस के लिए सशर्त अनुमति दी है। कमिश्नर सुजीत पांडे ने बताया कि इमामबाड़ा गुफरानमाब में मजलिसों की अनुमति दी गई है, लेकिन बहुत से लोग यहां इकट्ठा नहीं होंगे और सामाजिक डिस्टैन्सिंग का पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस शर्त के अनुसार, ऑकिंड माइंड को मास्क लगाना होगा और सैनिटाइजर या साबुन से भी हाथ साफ करना होगा।

रिपोर्टों के अनुसार, मौलवी कल्बे जवाद, मुतावल्ली, पुराने शहर में इमामबाड़ा गुफरानमाब के प्रबंधक ने विशेष रूप से मुहर्रम के लिए जारी किए गए दिशानिर्देशों को असंवै-धानिक और अ वैध बताया था। जावद ने प्रशासन को चेतावनी भी दी थी कि वह कोविड-19 प्रोटो कॉल के बावजूद इमामबाड़ा में मजलिस का आयोजन करेगा और अगर वे इस ‘असंवै-धानिक आदेश’ के उल्लंघन के लिए उसे अप राधी के रूप में गिरफ्तार करते हैं, तो वे ऐसा करने के लिए स्वतंत्र हैं। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस ने उन्हें ऐसा करने की अनुमति नहीं दी, तो वह अपनी गिरफ्तारी देंगे।

मौलवी ने पुलिस आयुक्त को एक लिखित बयान सौंपा, जिसमें आ रोप लगाया गया कि यह आदेश न केवल भ्रामक है बल्कि यह भी है, जिससे समुदाय में तनाव पैदा हो रहा है। कल्बे जवाद ने कहा कि पुलिस का यह आदेश कोविड-19 के लिए डब्ल्यूएचओ, केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के खिलाफ भी है।

कल्बे जवाद ने कहा, “अगर प्रशासन अपने असंवै-धानिक आदेश का पालन करता है, तो मुझे गिरफ्तार करने के लिए स्वतंत्र है।” लेकिन मैं अपने समुदाय से अनुरोध करूंगा कि मेरी गिरफ्तारी का वि-रोध न करें और कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करें। गौरतलब है कि लखनऊ शिया और सुन्नी मरकजी चांद कमेटी ने घोषणा की है कि मोहर्रम का चांद 20 अगस्त को देखा गया है, इसलिए गुरुवार, 21 अगस्त को मोहर्रम की पहली तारीख होगी।