अभी अभी पुलवामा हमलें पर हुयी अब तक की सबसें बड़ी कार्यवाही,13500 पन्नों की चार्जशीट, ये है आरोपी………..

ट्रेंडिंग

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने पुलवामा आतंकी अटैक केस में चार्जशीट दायर कर दी है. ये चार्जशीट 13500 पन्नों की है. चार्जशीट में एनआईए ने 13 आरोपी बनाए हैं. इनमें जैश-ए मोहम्मद का सरगना मौलाना मसूद अजहर भी शामिल है. जबकि हमले को अंजाम देने वाला आत्मघाती आतंकी आदिल डार धमाके में ही मारा गया था.

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला किया गया था. एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से भरी कार सीआरपीएफ के काफिले से टकरा दी थी. इस धमाके में 40 जवान शहीद हो गए थे. एनआईए तब से ही इस मामले की जांच कर रही थी. अब एनआईए ने 13500 पन्नों की चार्जशीट दायर की है. 

इस आतंकी हमले को आदिल अहमद डार नाम के आत्मघाती आतंकी ने अंजाम दिया था. जो मारा गया था. आदिल के साथ मिलकर हमले के लिए आईईडी बनाने वाला उमर फारूक भी मारा गया है. जबकि तीसरे शख्स समीर को आरोपी बनाया गया है. एनआईए ने ऐसे लोगों को भी अपनी चार्जशीट में आरोपी बनाया जो आदिल के मददगार थे. साथ ही पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आकाओं को भी चार्जशीट में आरोपी बनाया गया है. 

ये हैं आरोपी

जैश-ए मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर को एनआईए ने अपनी चार्जशीट में सबसे पहला आरोपी बनाया है. मसूद के अलावा उसके भाई अब्दुल राउफ और मौलाना अम्मार को भी आरोपी बनाया गया है. मौलाना अम्मार बालाकोट में जैश के आतंकियों को ट्रेनिंग देता है. 

मददगार भी फंसे

पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आदिल डार के कई मददगार भी थे, एनआईए ने ऐसे लोगों को भी आरोपी बनाया है. इनमें मोहम्मद अब्बास राथर, बिलाल अहमद कूचे, शाकिर बशीर@हुजैफा, इंशा जान@इंशा तारिक, पीर तारिक अहमद शाह, अश्क अहमद नेंगरू, इकबाल राथर, समीर अहमद डार और वैज़-उल इस्लाम को भी आरोपी बनाया गया है. शाकिर ने हमले के लिए कार उपलब्ध कराई थी, साथ ही विस्फोटक, आईईडी भी उपलब्ध कराया था. अब्बास राथर ने ऑनलाइन शॉपिंग के जरिए हमले में मदद की थी.