अंतरिक्ष में भारत बना बड़ी महाशक्ति, चीन है काफी पीछे

ट्रेंडिंग

न्यूज डेस्क: अंतरिक्ष विज्ञान की दुनिया में भारत एक बड़ी महाशक्ति बनकर उभार रहा हैं। जिसकी तारीफ पूरी दुनिया कर रही हैं। जिससे चीन को सबसे ज्यादा परेशानी हैं। क्यों की चीन स्पेस की रेस में भारत से काफी पीछे दिखाई दे रहा हैं। 
एक रिपोट की मानें तो अंतरिक्ष विज्ञान की रेस में अमेरिका और रूस के बाद भारत का नंबर आता हैं। जबकि चीन इस पूरी दुनिया में पांचवे नंबर पर हैं। अंतरिक्ष महाशक्ति बनने के इस सफर में भारत ने इससे पहले भी कई मील के पत्थर स्थापित किए हैं। भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो ने सभी भारतियों को गर्व महसूस कराया हैं।
अंतरिक्ष विज्ञान में भारत की बड़ी उपलब्धि।1 .भारत ने मंगल ग्रह की कक्षा में सफलतापूर्वक एक अंतरिक्षयान स्थापित किया और दुनिया का पहला ऐसा देश बना जो पहले प्रयास में मंगल तक पहुंच पाया। जबकि चीन आज तक ऐसा नहीं कर पाया हैं और मंगल तक जाने की रेस में भारत से काफी पीछे हैं।
.इसरो ने पीएसएलवी के जरिए एक साथ 104 सैटेलाइट लांच कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया हैं। इस अभियान में भेजे गए 104 उपग्रहों में से तीन भारत के थे और शेष 101 इजराइल, कजाखस्तान, नीदरलैंड, स्विटजरलैंड और अमरीका के थे। वहीं बात चीन की करें तो इसमें वो भारत से काफी पीछे हैं।
.भारत ने ‘मिशन शक्ति’ के तहत एंटी सैटेलाइट मिसाइल ‘A-SAT’ से महज तीन मिनट में लाइव सैटेलाइट को मार गिराया। इस तरह भारत अंतरिक्ष में यह सुपरपावर हासिल करने वाला भारत दुनिया का चौथा देश बन गया हैं।