‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

ट्रेंडिंग

बॉलीवुड के मशहूर फिल्म निर्माता-निर्देशक अनुराग कश्यप के ख़िलाफ अभिनेत्री पायल घोष ने साल 2013 की एक घटना पर एफआईआर दर्ज करवाई है। मुंबई वर्सोवा थाने में दिए अपने बयान में उन्होंने बताया है कि अनुराग से उनकी मीटिंग उस साल 3 बार हुई थी। अभिनेत्री के अनुसार, तीसरी मुलाकात अनुराग के घर पर हुई थी। वहीं मशहूर निर्देशक ने उन्हें सोफे पर धक्का दिया और अपनी पैंट खोल कर जबरदस्ती करने लगे।

अपने बयान में घोष ने यह भी बताया कि इस दौरान उन्होंने चिल्लाने की कोशिश की मगर, अनुराग ने उनका मुँह दबाकर उनका रेप किया।

पहली मुलाकात अनुराग के ऑफिस में

अभिनेत्री पायल घोष के अनुसार, साल 2013 के अगस्त महीने में उनकी कुछ ही दिनों में तीन मुलाकातें हुईं। पहली मीटिंग में वह अपने मैनेजर के साथ कश्यप से अंधेरी के आराम नगर स्थित उनके ऑफिस में मिलीं। बाकी दो मुलाकातें निर्देशक के घर पर हुई, जहाँ पायल घोष उनसे अकेले मिलने गईं।

दूसरी मुलाकात घर पर

दूसरी मुलाकात के बारे में बताते हुए घोष ने पुलिस को कहा उस दौरान अनुराग बड़े सलीके से पेश आए थे। वह कहती हैं, “दूसरी मुलाकात में मेरी उनसे दो घंटे से ज्यादा बातचीत चली। तभी उन्होंने मुझे अपने फिल्म करियर और उपलब्धियों के बारे में भी बताया। मैंने उनके साथ डिनर किया, फिर उन्होंने मुझे कुछ देर और रुकने को कहा। मगर मैं चली गई, क्योंकि ड्राइवर इंतजार कर रहा था।”

तीसरी मुलाकात में रेप

तीसरी मुलाकात का खुलासा करते हुए घोष ने बताया है कि कश्यप से दूसरी बार मिलने के बाद उन्हें कुछ दिन बाद मैसेज आया। इस मैसेज में कश्यप ने अभिनेत्री को एक रोल ऑफर करते हुए उनसे घर आकर मिलने को कहा। मैसेज में अनुराग कश्यप ने पायल घोष से अलग से कहा कि वह सलवार-कमीज पहनकर उनसे मिलने आए ताकि कोई उन्हें पहचान न पाए।

पायल घोष का बयान

पायल घोष ने बयान में कहा है, “लगभग 7:30 बजे मैं अपनी होंडा सिटी कार में अनुराग कश्यप के घर पहुँची। वह अंदर बैठकर स्मोक कर रहा था। घर से वाकई बहुत बदबू आ रही थी और जब मैंने उससे पूछा, तो उसने कहा कि वह मारिजुआना का सेवन कर रहा था। उसने मुझे भी स्मोक करने को कहा, लेकिन मैंने मना कर दिया। वह मुझे अपने फिल्मों के संग्रह को दिखाने के लिए दूसरे कमरे में ले गया। अपनी पुरानी फिल्मों के कैसेट दिखाते हुए, उसने अचानक मुझे सोफे पर धकेल दिया। फिर उसने अपनी पैंट खोली और मुझसे जबरदस्ती करने लगा। मैंने बहुत चिल्लाने की कोशिश की, लेकिन उसने मेरा मुँह दबा दिया और मेरा बलात्कार किया।”

पायल के अनुसार, इसके बाद उसे जैसे ही मौका मिला वह वहाँ से भाग निकली। पहले तो उसने आपबीती किसी के साथ साझा नहीं की, लेकिन कुछ दिनों बाद, उसने अपने मैनेजर और ड्राइवर को यह सब बताया।

पायल उस समय को याद करते हुए कहती हैं कि वह उस समय निर्देशक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए बेचैन थीं, लेकिन उनके कुछ करीबी दोस्तों ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया। साथ ही चेतावनी दी कि अगर वह अनुराग कश्यप जैसे बड़े निर्देशक के खिलाफ बोलती हैं तो शायद उन्हें फिल्म में काम नहीं मिलेगा।

पायल ने अपने बयान में कहा, “मीटू आंदोलन ने मुझे हिम्मत दी। मैंने इस महीने अपनी बहन और चचेरे भाई के साथ इसे साझा किया और अपने परिजनों से सलाह-मशविरा करने के बाद शिकायत दर्ज करने का फैसला किया।”

पुलिस को दिए अपने बयान में अभिनेत्री ने कहा है कि उनके मैनेजर ने साल 2013 में अनुराग कश्यप से उनकी पहली मीटिंग करवाने के लिए फेसबुक पर उन्हें रिक्वेस्ट भेजी थी।

गौरतलब है कि करीब एक हफ्ते पहले अभिनेत्री पायल घोष ने दावा किया था कि फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप द्वारा उनका यौन उत्पीड़न किया गया था। उन्होंने बताया कि अनुराग कश्यप ने उन्हें सहज करने के लिए उनसे कहा था कि इंडस्ट्री में फिल्म निर्माताओं और अभिनेत्रियों के बीच शारीरिक संबंध आम बात है। पायल घोष ने आगे कहा कि ऐसा आदमी अब महिलाओं की स्वतंत्रता के लिए बोल रहा है, वह एक ‘f***ing hypocrite’ है।

पायल घोष ने यह गंभीर आरोप एबीएन तेलुगू को दिए इंटरव्यू में लगाए थे। इसके बाद एनसीडब्ल्यू अध्यक्ष ने अभिनेत्री को उन्हें सारी जानकारी और उनकी शिकायत भेजनी की सलाह दी थी। शुरुआत में तो इस मामले में मुंबई पुलिस ने अभिनेत्री की शिकायत नहीं लिखी। मगर बाद में आईपीसी की धारा 376, 354, 342, 342 के तहत मामला दर्ज करके जाँच शुरू कर दी थी। कहा जा रहा है कि इस 7 साल पुराने मामले में अनुराग को जल्द ही पूछताछ के लिए तलब किया जाएगा।