देश के सामने एक और मुसीबत, अमित शाह ने तुरंत की हाई लेवल बैठक

ट्रेंडिंग

ये पूरा का पूरा  साल देश हो या सरकार हो सबके लिए दिक्कतों से भरा हुआ ही रहा है और कही न कही चाहे टिड्डी दल हो, करोना हो, चीन हो, पाक हो सबने  भारत और भारत की सरकार को परेशान करके रखा हुआ था. अभी तो ये सब प्रॉब्लम खत्म हुई ही नही थी कि एक और दिक्कत आन पड़ी है और ये दिक्कत दिन महंगाई से जुडी हुई है जो हर साल वैसे तो होती ही है लेकिन इस बार थोड़ी जल्दी ही हो गयी है जिसे निपटाने में सरकार जुट गयी है.

बढ़ते प्याज की कीमतों से परेशान शाह ने बुलायी बैठक, पीयूष गोयल और नरेंद्र तोमर समेत शीर्ष अधिकारी हुए शामिल
अभी की रिपोर्ट्स के अनुसार देश में प्याज की कमी होने लग रही है जिसके कारण कई शहरो में प्याज की कीमते 100 रूपये प्रति किलो के हिसाब से भी ज्यादा होने जा रही है. इससे गरीब और मध्यम वर्ग के लोग काफी ज्यादा प्रभावित हो सकते है क्योंकि उनकी कमाई वैसे ही करोना के कारण कम हो गयी है या फिर खत्म हो गयी है तो ऐसे में वो सब्जियों की महँगाई को झेल नही पायेंगे.

ऐसे में शाह ने देश के बाजार की स्थिति की समीक्षा की जिसमे कई बड़े प्रशासनिक अधिकारी, पीयूष गोयल और नरेंद्र तोमर भी शामिल हुए. इसके अलावा मिस्त्र देश को अभी 21 हजार टन प्याज का आर्डर भी दे दिया गया है और उम्मीद है कि जब इसकी खेप भारत पहुंचेगी तो इससे भारत में प्याज की बढती हुई कीमतों पर लगाम लगेगी.

इन दिनों में सरकार बाजार में अस्थिरता का रिस्क किसी भी कीमत पर नही लेना नही चाह रही है क्योंकि करोना के कारण अर्थव्यवस्था अब तक के सबसे बुरे हालात में पहुँच चुकी है, लोगो की खर्च करने की केपेसिटी न्यूनतम स्तर पर है और ऐसे में प्याज जैसी चीजो की कीमत बढना बाजार में अस्थिरता को जन्म दे सकती है जिसे सरकार कण्ट्रोल करने की कोशिश कर रही है.