चीन की कमजोर नब्ज दबा रहा है भारत, बौखलाहट में ड्रैगन

ट्रेंडिंग

न्यूज डेस्क: चीन भारत के साथ जितना विवाद को बढ़ा रहा है भारत उसकी दुखती नब्ज को उतना ही ज्यादा दबा रहा हैं। एक रिपोट की मानें तो चीन की दुखती नब्ज तिब्बत और ताइवान हैं। भारत चीन की इस कमजोर नब्ज को दबाना शुरू कर दिया है। जिससे ड्रैगन बौखलाया हुआ हैं।
मिली जानकारी के मुताबिक ताइवान में आयोजित एक कार्यक्रम में भारत के दो सांसदों ने भाग लिया था। जिससे चीन की बेचैनी बढ़ गई थी। वहीं भारत में रह रहे तिब्बती शरणार्थियों से बनी सीक्रेट फोर्स के द्वारा भी भारत चीन पर मनोवैज्ञानिक दबाव बना रही है। 
आपको बता दें की भारत ने अभी तक आधिकारिक तौर पर इस सीक्रेट फोर्स की बात नहीं की लेकिन कुछ दिन पहले इस फोर्स के शहीद कमांडो को अंतिम विदाई देने बीजेपी के सीनियर नेता राम माधव भी पहुंचे।  साथ ही साथ यहां भारत माता की जय के नारों के बीच तिरंगा और तिब्बती झंडा साथ लहरा रहा था। इससे चीन को सबसे ज्यादा बेचैनी हुई थी।
भारत की और से ये संकेत साफ था की अब भारत ने चीन की दुखती रग यानी तिब्बत के जरिए भी चीन पर दबाव बनाना शुरू किया है। बता दें की यहीं वो सीक्रेट फोर्स है जो लद्दाख में कई चोटियों पर कब्ज़ा किया हैं। जिसमे ज्यादा तर सैनिक तिब्बत के शरणार्थी हैं।