अनिल अंबानी ने कोर्ट से कहा – “माँ पैसे दे रही है खाने और रहने के लिए, मैं बेरोजगार हूँ, फूटी कौड़ी नहीं”

ट्रेंडिंग

कहते है समय बड़ा बलवान होता है, जो गरीब को आकाश की ऊंचाई पर भी पहुंचा सकता है और जो आकाश की ऊंचाई पर है उसे जमीन पर भी ला सकता है अनिल अंबानी कभी दुनिया के छठे अमीर व्यक्ति थी, वो अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी से भी ज्यादा अमीर थे, धीरुभाई अंबानी की मृत्यु के बाद दोनों भाइयों में बंटवारा हुआ था, इसके थोड़े समय बाद अनिल अंबानी मुकेश अंबानी से ज्यादा अमीर बन गए थे, उनके पास रिलायंस के अधिकतर बिज़नस आ चुके थेसमय का पहिया घुमा और आज स्तिथि ये है की अनिल अंबानी के पास खाने के लिए भी खुद के पैसे नहीं है अनिल अंबानी की तमाम कम्पनियाँ कर्ज में डूब चुकी है, कई बैंक अनिल अंबानी की निजी संपत्तियों की अब नीलामी भी कर रहे है, अनिल अंबानी की सभी निजी संपत्तियों पर एक के बाद एक बैंक कब्ज़ा कर रहे है चूँकि इन्ही के बदले उन्होंने अनिल अंबानी को कर्जा दिया था 




अनिल अंबानी से पैसे की वसूली के लिए कई बैंको ने कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया है और इसी बीच अनिल अंबानी ने कोर्ट में ये कहा है की वो अभी कोई कर्जा भरने की स्तिथि में नहीं है अनिल अंबानी ने कोर्ट में हलफनामा दिया है जिसमे उन्होंने बताया की – मैं अपनी माँ के पैसे पर जी रहा हूँ, मेरी माँ ने मुझे अपना क्रेडिट कार्ड दिया है और उसी क्रेडिट कार्ड से मेरे खर्चे चल रहे है, मेरे खाने से लेकर कपड़ों और रहने तक का खर्चा मेरी माँ ही दे रही है, मेरे पास अभी कुछ नहीं है, मैं बेरोजगार भी हूँ और मेरे पास फूटी कौड़ी भी नहीं जो मै बैंको को दे सकू”अनिल अंबानी ने बैंको से और समय माँगा है और कहा है की आने वाले समय में मेरी स्तिथि अच्छी हुई तो ही मैं बैंको के कर्ज को भर सकूँगाअनिल अंबानी ने कोर्ट को ये भी कहा की – केस लड़ने के लिए भी मेरे पास पैसे नहीं है, मैंने तो अपनी पत्नी के गहने बेचे है ताकि मैं केस लड़ सकू, अनिल अंबानी ने ये भी कहा की – मेरे पास अब खुद का घर भी नहीं है, मैं जिस घर में अभी रह रहा हूँ वो मेरे भाई का है जो माँ के कहने पर मेरे भाई ने मुझे रहने के लिए दिया है