कोरोना पीड़ितों की मदद के नाम पर सोनू सूद ने किया स्कैम ? लाखों की उगाही, जमकर कमाई और PR

ट्रेंडिंग

सोनू सूद के त्वीट्स और पोस्ट्स को आम लोगो ने जमकर शेयर किया और सोनू सूद रातों रात मसीहा बन गए, कोरोना पीड़ितों के नाम पर सोनू सूद का खूब नाम बना पर सिर्फ नाम ही नहीं बल्कि मोटा पैसा भी बना सोनू सूद ने जिन जिन लोगो की ट्विटर पर मदद की वो सब लोग अब गायब है, उनके अकाउंट गायब है, ये अकाउंट फर्जी थे, ये सिर्फ त्वीट करने के लिए बनाये गए थे, उन मदद मांगने वाले त्वीट्स पर सोनू सूद कमेंट करते और लोग सोनू सूद के त्वीट को जमकर शेयर करते, फ्री में खूब नाम होता की सोनू सूद लोगो की मदद कर रहे है पर वाकई उन लोगो से कोई नहीं मिला जिनकी मदद सोनू सूद ने ट्विटर पर की हो, उन लोगो के अकाउंट भी गायब है, वो ऐसे गरीब लोग थे जिनके पास खाने को 1 दाना नहीं था पर ट्विटर पर अकाउंट चलाने के लिए इन्टरनेट और स्मार्ट फ़ोन जरुर थे, खैर सोनू सूद ने 5-6 बसें चलवाई थी, ये सच है,  अब इन 5-6 बसों के अलावा सोनू सूद ने ट्विटर पर लोगो की मदद का ऐलान किया था, 5-6 बसें तो लाख-दो लाख का ही खर्चा है, बाकि ट्विटर पर जिन लोगो की मदद की वो सब अकाउंट गायब हो चुके है, वो असल में लोग भी थे या सोनू सूद का PR टीम ही फर्जी अकाउंट बनाकर त्वीट्स कर रहा था ये जांच का विषय है इसी बीच लोगो की नजर कुछ साइट्स पर पड़ी, इन साइट्स पर सोनू सूद फण्ड मांग रहे है, सोनू सूद का ये कहकर फण्ड मांग रहे की मुझे लोगो की मदद करनी है इसमें आप सहयोग करें लोगो ने कोरोना पीड़ितों के नाम पर लोगो से ही लाखों की उगाही की है, ये आंकड़ा 78 लाख से भी ज्यादा रुपए का है, और मुमकिन है की ये कई करोड़ तक भी जा सकता है, देखिये 

सिर्फ “मिलाप” नाम के फण्ड रेजिंग वेबसाइट के सिर्फ एक कैंपेन से सोनू सूद अबतक 80 लाख रुपए के करीब जमा कर चुके है ये आंकड़ा सिर्फ 1 कैंपेन का है, सोनू सूद की टीम कई फण्ड रेजिंग वेबसाइटस पर इसी तरह का कैंपेन चला रही है और अबतक सोनू सूद ने देश के लोगो से कोरोना पीड़ितों के नाम पर कितने की उगाही की है ये जांच का विषय है, ये आंकड़ा 80 लाख से तो ज्यादा का ही है जो कई कई करोड़ तक भी जा सकता है 



आंध्र में सिर्फ 1 लड़की को 1 ट्रेक्टर, और उसके अलावा मुंबई से यूपी बिहार की तरह 5-6 बसे, और इसके अलावा सोनू सूद ने कुछ नहीं किया, ट्विटर पर जितने एकाउंट्स ने मदद मांगी वो एकाउंट्स फर्जी थे, किसी ने उन लोगो को आजतक नहीं देखा जिनकी मदद सोनू सूद ने की हो देखिये जिनकी मदद सोनू सूद कर रहे थे उन सबके अकाउंट डिलीट हो चुके है, ये अकाउंट डिलीट कर दिए गए ताकि कोई इन लोगो तक पहुँच कर पूछ न सके की भाई मदद मिली भी है या नहीं, कोई कन्फर्म ही नहीं कर सकता की किसी को मदद मिली भी या नहीं, ये सब फर्जी अकाउंट थे 

कुछ और उदाहरण देखिये 

ट्विटर पर एक ऐसा भी शख्स है जिसने सोनू सूद से मदद मांगी थी की उसकी एयर टिकेट करवाई जाये, सोनू सूद ने कहा था मैं तेरी एयर टिकेट करवाऊंगा, एयर टिकेट हो भी गया और नाम सोनू सूद का हुआ की उन्होंने एयर टिकेट करवाया, पर उस शख्स ने बाद में बताया की एयर टिकेट के पैसे उसने खुद दिए हैदेखिये 

सोनू सूद ने 2-5 लाख खर्च किये है, PR टीम ने अच्छा काम किया है, और मासूम  लोगो ने सोशल मीडिया पर सोनू सूद को जमकर फ्री शेयर और रीत्वीट दिया है, और सोनू सूद ने कई फण्ड रेजिंग वेबसाइट पर करोडो की उगाही की है