शिवसेना की इस हरकत से नाराज हुई एनसीपी और कांग्रेस, कर दी बड़ी मांग

ट्रेंडिंग

शिवसेना ने जैसे तैसे करके एनसीपी और कांग्रेस के साथ में खुदको जोड़कर के सरकार तो बना ली लेकिन आये दिन इस गठबंधन के कारण शिवसेना को काफी ज्यादा दिक्कते आती रहती है और ऐसी दिक्कते आती रहती है जो अपने आप में उनको बहुत ही ज्यादा दिक्कत देने वाली होती है. अब हाल ही की बात ही ले लीजिये, संजय राउत की एक बैठक का मुद्दा बन गया है. दरअसल संजय राउत ने फडनवीस के साथ में मीटिंग की थी और इस मीटिंग को लकर शरद पवार और कांग्रेस काफी नाराज है.

एनसीपी और कांग्रेस ने मीटिंग कर लिया मुद्दे का जायजा, शिवसेना को याद दिलाया गठबंधन धर्म
शिवसेना और बीजेपी की ये गुपचुप दोस्ती से नाराज हुई एनसीपी और कांग्रेस ने आपस में एक बैठक की जिसमे बाला साहेब थोराट और शरद पवार शामिल हुए और इसमें इस बात को लेकर के दोनों ही पार्टियां नाराज हुई कि शिवसेना के लोग अभी भी भाजपा वालों से जाकर के मीटिंग करते है. ये कही न कही गठबंधन की नीतियों के एक तरह से खिलाफ ही है.

कांग्रेस की तरफ से तो ये मांग भी की गयी कि जब महाराष्ट्र में नए कृषि बिल को लागू करना होगा तो वो उसका विरोध करेगी और शिवसेना जो कि सत्ता की ड्राईवर है वो भी इसके खिलाफ खड़ी हो. यहाँ पर कांग्रेस ने गठबंधन धर्म याद दिलाते हुए शिवसेना को अपना साथ देने की मांग की है. ऐसे में शिवसेना के लिए यहाँ पर आगे कुआं और पीछे खाई वाली बात हो गयी है. हालांकि संजय राउत ने यहाँ पर सफाई देते हुए कहा है कि फडनवीस हमारे दुश्मन नही है और इस मीटिंग के बारे में उद्धव ठाकरे जी को पता था.

इस तरह की वैचारिक भिन्नता के बाद भी तीनो ही पार्टियाँ एक साथ एक ही गठबंधन में बैठी हुई है और फिर भी एक दुसरे को कोस भी रही है. अब आगे इसका अंजाम क्या होगा? अंत में जो निकलने जा रहा है वो तो आखिर में ही पता लग सकेगा.