रक्षा क्षेत्र में भारत की बढ़ी ताकत, DRDO ने किया एंटी रेडिएशन मिसाइल ‘रुद्रम’ का सफल परीक्षण

ट्रेंडिंग

चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद के बीच में भारत ने रक्षा क्षेत्र में एक और सफलता हासिल किया है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने आज लड़ाकू विमान सुखोई-30 से एंटी रेडिएशन मिसाइल ‘रुद्रम’ का सफल परीक्षण किया। इस मिसाइल को डीआरडीओ द्वारा विकसित किया गया है।

इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस सफलता के लिए डीआरडीओ को बधाई दी। उन्होंने लिखा कि, न्यू जनरेशन एंटी-रेडिएशन मिसाइल (रुद्रम -1) जो भारत द्वारा विकसित पहली स्वदेशी एंटी-रेडिएशन मिसाइल है। जिस डीआरडीओ ने विकसित किया है। भारतीय वायु सेना के लिए तैयार मिसाइल का आईटीआर, बालासोर में आज सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। इस उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए डीआरडीओ और अन्य हितधारकों को बधाई। https://platform.twitter.com/embed/index.html?creatorScreenName=republic&dnt=false&embedId=twitter-widget-0&frame=false&hideCard=false&hideThread=false&id=1314483549639045121&lang=en&origin=https%3A%2F%2Fbharat.republicworld.com%2Findia-news%2Fgeneral-news%2Fdrdo-successfully-testfired-rudram-anti-radiation-missile-from-sukhoi-30-fighter-aircraft%3Ffbclid%3DIwAR1KB3eaESty-K2LMASH8OP-GEh31FSrcij5-t81PbvcvR0J3EobcIwr0Ls&siteScreenName=republic&theme=light&widgetsVersion=ed20a2b%3A1601588405575&width=550px

डीआरडीओ ने कहा कि ”रुद्रम’ भारतीय वायु सेना के लिए देश की पहली स्वदेशी एंटी रेडिएशन मिसाइल है जिसे DRDO द्वारा विकसित किया गया है। मिसाइल को लॉन्च प्लेटफॉर्म के रूप में सुखोई सु -30 एमकेआई लड़ाकू विमान में एकीकृत किया गया है, जिसमें प्रक्षेपण स्थितियों के आधार पर अलग-अलग रेंज की क्षमता है।https://platform.twitter.com/embed/index.html?creatorScreenName=republic&dnt=false&embedId=twitter-widget-1&frame=false&hideCard=false&hideThread=false&id=1314485283950264320&lang=en&origin=https%3A%2F%2Fbharat.republicworld.com%2Findia-news%2Fgeneral-news%2Fdrdo-successfully-testfired-rudram-anti-radiation-missile-from-sukhoi-30-fighter-aircraft%3Ffbclid%3DIwAR1KB3eaESty-K2LMASH8OP-GEh31FSrcij5-t81PbvcvR0J3EobcIwr0Ls&siteScreenName=republic&theme=light&widgetsVersion=ed20a2b%3A1601588405575&width=550px

डीआरडीओ ने कहा कि ‘भारत ने आज पूर्वी तट से दूर सुखोई -30 लड़ाकू विमान से रुद्रम की एंटी-रेडिएशन मिसाइल का सफल परीक्षण किया। मिसाइल को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा विकसित किया गया है।’

 गौरतलब है कि रुद्रम भारत में बनाई गई अपने तरह की पहली मिसाइल है। जिसे किसी भी ऊंचाई से दागा जा सकता है। मिसाइल में सिग्नल और रेडिएशन पकड़ने की क्षमता है। 

इसे भी पढ़ें: ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण, पीएम मोदी ने दी DRDO को बधाई

बता दें कि डीआरडीओ ने गत महीने में हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी डेमोनस्ट्रेटर व्हीकल(HSTDV) का सफल परीक्षण किया, जिसके बाद भारत अमेरिका, रूस, चीन के बाद ऐसा चौथा देश बन गया है, जिसके पास  हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी है।

इसके बाद में  ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल  का भी भारत ने सफल प्रायोगिक परीक्षण किया। इस मिसाइल की मारक क्षमता 400 किलोमीटर से ज्यादा है।