“साले भंगी” बोलकर मुरादाबाद में मुसलमानों ने दलित लड़के का बहा दिया खून, सामान खरीदने गया था दलित लड़का

ट्रेंडिंग

ये पूर्णतयः मजहबी और जातीय अपराध है इसी कारण इस मामले में आरोपियों और पीड़ित दोनों का धर्म, मजहब, जाति लिखना जरुरी है ताकि सच को सच के रूप में ही पेश किया जा सके मामला उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद का है जो तेजी से मुस्लिम बहुल जिला बनता जा रहा है, मुर्दाबाद में वाल्मीकि जाति का एक दलित लड़का जिसका नाम सौरभ है वो अपने जानवरों के लिए खली (जानवरों के खाने का सामान) खरीदने मार्किट गया था, मामला ग्राम हटहट का है जहाँ शाम को सौरभ खली खरीदने दुकान पर गया था

सौरभ को एक दूकान दिखाई दी, ये दूकान जिलानी और उसके अब्बू मुजम्मिल की थी, सौरभ इस दुकान पर खली खरीदने रुक गया, इतने में जिलानी ने कहा की – “साले भंगी, तुम कब से खली खरीदने लगे” सौरभ ने इसका विरोध किया तो पास ही बैठा मुजम्मिल आ गया, इसके बाद मुजम्मिल ने गाली गलोज शुरू कर दी और दलितों के खिलाफ एक के बाद एक अपमानजनक और जातिवादी शब्द कहेइतने से मन नहीं भरा तो मुजम्मिल ने अपने साथियों को तुरंत बुला लिया और सबने मिलकर दलित लड़के सौरभ का खून बना दिया, उसे बुरी तरह मारा किसी तरह सौरभ जान जान बचाकर अपने घर पहुंचा जिसके बाद उसके पिता ने भोजपुर थाने में मामला दर्ज करवाया, योगी राज है इसी कारण पुलिस ने कार्यवाही की और जिलानी तथा मुजम्मिल को गिरफ्तार कर लिया, दोनों पर कई धाराओं में  मामला भी लिख लिया गया है जिनमे SC/ST एक्ट भी शामिल है