ताबड़तोड़ छापेमारी: आतंकी फंडिंग मामले में कई दफ्तरों की तलाशी, मचा हड़कंप

ट्रेंडिंग

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी(NIA) की टीम ने बुधवार की सुबह जम्मू-कश्मीर में तमाम जगहों श्रीनगर, बांदीपोरा, बड़गाम और बैंगलोर में छापेमारी की है। इसमें खुर्रम परवेज, एनजीओ एथ्राउट और ग्रेटर कश्मीर ट्रस्ट के कार्यालय शामिल हैं। ऐसे में सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, टेरर फंडिंग मामले में छापे मारे गए हैं। एनआईए कई दिनों से मामले की जांच करने में लगी हुई है। लेकिन अब तक जितनी भी जांच हुई उसमें जो सुराग मिले हैं उन्‍हीं के आधार पर ये छापेमारी आगे की गई है।

घाटी में कई जगहों पर छापेमारी
ऐसे में एनआईए(NIA) की टीम आज सुबह श्रीनगर पहुंची। इसके साथ में पुलिस और सीआरपीएफ(CRPF) की टीमें भी थीं। टीम द्वारा इस छापेमारी में स्‍थानीय अखबार ग्रेटर कश्‍मीर ट्रस्‍ट के कार्यालय, सोनवर में खुर्रम परवेज और एनजीओ एथ्राउट के एचबी हाउस बोट नेहरू पार्क इलाके में स्थित कार्यालय और आवास पर मारे गए। छापे के दौरान किसी को भी बाहर जाने की मंजूरी नहीं दी गई।

बता दें, एनआईए(NIA) काफी टाइम से सीमा पार से होने वाली टेरर फंडिंग मामले की जांच में लगी हुई है। वहीं अभी कुछ दिन पहले एक व्यक्ति को कश्मीर से पकड़ा गया था। इसमें सूत्रों का कहना है कि उसकी पूछताछ के बाद नई बातों का पता चला। उसके बाद ही कई जगहों पर छापे मारे गए है। जिसके कई अहम जानकारी भी सामने आई है।
केरल सोना तस्करी मामला
इससे पहले कल केरल सोना तस्करी मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी(NIA) ने एक आरोपी राबिंस हमीद को गिरफ्तार किया था। इस मामले में भगोड़े आरोपियों में से एक हमीद को कोच्चि एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया। हमीद के खिलाफ इंटरपोल ने ब्ल्यू कॉर्नर नोटिस जारी किया था, जिसके आधार पर संयुक्त अरब अमीरात सरकार ने उसे अपने यहां से निर्वासित कर दिया था।

इस बारे में एजेंसी के आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि हमीद जैसे ही यूएई से कोच्चि पहुंचा, उसे गिरफ्तार कर लिया गया। हमीद केरल के एर्नाकुलन जिले में मुवात्तुपुझा का रहने वाला है।