अभी अभीः सीमापार से कोरोना फैलाने की साजिश, देशभर में हडकंप

ट्रेंडिंग

पूर्वी चंपारण। SSB के पत्र जिसमें बिहार से सटे भारत-नेपाल की सीमा से कोरोना संदिग्धों के घुसपैठ की संभावना जतायी गई है इस खबर के मिलते ही पूरा प्रशासन हाई अलर्ट पर है और सीमा पर विशेष चौकसी बरती जा रही है। बिहार सरकार ने गृह मंत्रालय को इस बाबत अवगत करा दिया है। बता दें कि सीमा से कोरोना महामारी को फैलाने की साजिश का बड़ा पर्दाफाश हुआ है, जिसमें कहा गया है कि नेपाल में बैठा तस्कर जालिम मुखिया नेपाल से 40-50 कोरोना संदिग्धों को भारत में प्रवेश कराना चाहता है।

पूर्वी चंपारण रामगढ़वा पनकोटा एसएसबी 47 वीं बटालियन के समादेष्ठा ने बीते तीन अप्रैल को खुफिया सूचना दी थी कि नेपाल के परसा जिले के जगन्नाथपुर गांव निवासी जालिम मुखिया ने भारत में कोरोना महामारी फैलाने की साजिश रची है। बता दें कि वह हथियार की अवैध सप्लाई एवं जाली नोटों के कारोबार को लेकर भी चर्चित रहा है। अब जालिम मुखिया नेपाल के रास्ते भारत में कोरोना संदिग्थ भेजने की तैयारी कर रहा है।

>इस खबर का पता चलते ही हड़कंप मचा है। एसएसबी के डीजी ने कहा है कि हम सख्त लॉकडाउन लागू कर रहे हैं और नेपाल की सीमा पहले से ही सील कर दी गई है। हमने एहतियातन भारत-नेपाल सीमा पर और अधिक जवानों की तैनाती कर दी है। यह पत्र एक अपराधी के बारे में खुफिया इनपुट पर आधारित है। हम इसे देख रहे हैं

डीएम ने कहा है कि भारत- नेपाल सीमा पर विशेष सर्तकता बरती जाए। किसी प्रकार की संदिग्ध गतिविधि पर कड़ाई से निगरानी करें। डीएम के आदेश के आलोक में बेतिया की एसपी निताशा गुड़िया ने बाॅर्डर के समीपवर्ती थानों को एसएसबी के साथ बार्डर पर निगरानी करने का निर्देश दिया है। शुक्रवार को सिकटा से लेकर वाल्मीकिनगर तक बाॅर्डर पर विशेष चौकसी रही। हालांकि, बीते 24 मार्च से ही बाॅर्डर सील है। आवाजाही पूरी तरह से बंद है।

वहीं, बिहार के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने कहा है कि एसएसबी ने यह नहीं कहा कि लोगों ने नेपाल से घुसपैठ की है, उन्होंने केवल यह कहा है कि ऐसी संभावना है। हमने पुलिस को सतर्क किया है और केंद्रीय गृह मंत्रालय को सूचित किया गया है। किसी को भी हमारी सीमा से प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

जालिम मुखिया को लेकर जारी किए गए पत्र में सूचना दी गई है कि समुदाय विशेष के वैसे 200 लोग, जो बाहर के मुस्लिम देशों में काम करते रहे हैं और इनके साथ ही पांच-छह पाकिस्तानी नागरिक काठमांडू के रास्ते नेपाल आ चुके हैं और एक मस्जिद में टिके हुए हैं। पत्र में ये भी कहा गया है कि 40 से 50 संदिग्ध भारत की सीमा में घुस सकते हैं।

जानकारी के अनुसार ये सभी लोग अपने शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने के लिए पैरासिटामोल टैबलेट का इस्तेमाल कर रहे हैं और संभवत: सभी कोरोना पॉजिटिव हैं। इसको देखते हुए संबंधित एजेंसियों को अलर्ट पर रखा जाए। जिलाधिकारी ने इसी पत्र के आलोक में एसपी को पत्र लिखकर अलर्ट किया था

Leave a Reply

Your email address will not be published.