अमर जवान ज्योति को तोडते मुुस्लिम युवक की तस्वीर को स्वरा भास्कर ने बताया फर्जी, भडके लोग

ट्रेंडिंग

नई दिल्लीः बिना जानकारी के कुछ भी कहना आपको मुश्किल में डाल सकता है. अभिनेत्री स्वरा भास्कर के लिए यह बात एकदम सटीक बैठती है. वह कई बार किसी मुद्दे पर बिना जानकारी के कहती नजर आई हैं. कुछ ऐसा ही मामला फिर से सामने आया है. यहां भी वह सिर्फ अपने अंदाजे से राय बनाती दिख रही हैं.

लोगों ने एक्ट्रेस की समझ पर उठाए सवाल
अभिनेत्री ने अपने ट्वीटर अकाउंट से कुछ फोटोज शेयर की हैं, जिसमें कुछ मुस्लिम युवा अमर जवान ज्योति को तहस-नहस करते दिख रहे हैं. उन्होंने इस पोस्ट के कैप्शन में लिखा है-घटिया फोटोशॉप! लोग अब एक्ट्रेस की समझ पर सवाल कर रहे हैं. कोई उन्हें गूगल करने की सलाह दे रहा है, तो किसी एजेंडे की तहत ऐसा करने का आरोप मढ़ रहा है. आप भी देखें ये ट्वीट-

आजाद मैदान दंगे की है फोटो
इस फोटो में कुछ मुस्लिम युवक ‘अमर जवान ज्योति’ को नुकसान पहुंचाते दिख रहे हैं. इसे एक यूजर ने शेयर किया था, जिसके कैप्शन में लिखा है, ‘जिस दिन तुमने अमर जवान ज्योति को लात मारी थी, तभी से मैं मुस्लिमों से नफरत करने लगा था.’ बता दें कि अमर जवान ज्योति स्मारक, 1857 की लड़ाई में शामिल स्वतंत्रता सेनानियों की याद में बनाया गया था.

एक्ट्रेस स्वरा भास्कर को जल्दी ही अपनी गलती का एहसास हुआ. उन्होंने अपनी गलती मानते हुए एक दूसरा ट्वीट शेयर किया है, जिसमें वह इस कृत्य की निंदा करती नजर आ रही हैं.

ये है सच्चाई
दरअसल, ये फोटो मुंबई में आजाद मैदान में 11 अगस्त 2012 को हुए एक दंगे की है. इस दंगे की वजह बोडो समुदाय और बंगाली मुस्लिमों के बीच बढ़ता तनाव था. बता दें कि यह असली फोटो है, जिसे गलत बताते हुए स्वरा ने इसे अपने ट्वीटर अकाउंट से शेयर किया है. इसमें दिख रहे दंगाइयों को तब मुंबई क्राइम ब्रांच की विशेष टीम ने गिरफ्तार किया था और उन्हें कानून के अनुसार दंड दिया था.

बता दें कि अभिनेत्री स्वरा भास्कर अकसर अपने बयानों की वजह से विवादों में घिर जाती हैं. बॉलीवुड में नेपोटिज्म और सुशांत हत्या मामले में भी उनके बयान खूब चर्चा में रहे थे.