Corona Virus: भारत में किया गया चमगादड़ों पर टेस्ट, सामने आई ऐसी सच्चाई जिसपर यक़ीन नहीं होगा

ट्रेंडिंग

कोरोना वायरस को लेकर हर हफ्ते एक नई थ्योरी आ रही है. ये तो पक्का है कि कोरोना वायरस चमगादड़ों में पाया जाता है. लेकिन, अभी तक यह तय नहीं हो पाया है कि कोरोना वायरस कि जीव से इंसान में आया. कोरोना वायरस के वजह से भारत में चमगादड़ों पर टेस्ट किया गया, सामने आई ऐसी सच्चाई जिसपर यक़ीन नहीं होगा,

आईसीएमआर और एनआईवी पुणे ने 7 राज्यों से इकट्ठे किए गए. बैट्स में यह स्टडी की गई. 25 चमगादड़ में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया. चमगादड़ का टेस्ट भी उसी तरह से किया गया जिस तरह से इंसानों का टेस्ट किया जाता है. आरटी पीसीआर तकनीक से चमगादड़ के टेस्ट किए गए थे और इसके लिए उनके गले से और मलद्वार से सैंपल कलेक्ट किए गए थे. यह स्टडी चमगादड़ की कई प्रजाति पर की गई थीं. दो प्रजातियों में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया. Rousetus प्रजाति से 78 सैंपल लिए गए जिनमें से 4 पॉजिटिव आए यह सभी चारों चमगादड़ केरल के थे. 

Pteropus प्रजाति से 508 सैंपल लिए गए जिनमें से 21 पॉजिटिव आई. इन 21 में से 12 केरल के, दो हिमाचल प्रदेश के, छह पुडुचेरी, और एक तमिलनाडु का चमगादड़ था. बहुत सी संक्रमित बीमारियों के मामले में पहले भी यह देखा गया है कि वह जानवरों की किसी ना किसी प्रजाति से होती है और चमगादड़ में इससे पहले भी नीपा ईबोला और रेबीज जैसी बीमारियों के वायरस मिल चुके है. चमगादड़ में पाया जाने वाला कोरोना वायरस और इंसानों में समानता नहीं देखी गई है. शोधकर्ताओं के मुताबिक यह स्टडी कोरोना वायरस की उत्पत्ति और उसके फैलने के बारे में अहम साबित हो सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.