दवाई दी और सिर्फ 10 दिनों में ले ली महाविध्वंसक हरपून मिसाइल, मोदी की जबरजस्त कामयाबी, गज़ब कूटनीति

ट्रेंडिंग

साल 2016 से ही अमेरिका ने जिस मिसाइल डील पर फाइलों को अटका रखा था उसे नरेंद्र मोदी की कूटनीति ने सिर्फ 10 दिनों में क्लियर करवा दिया 
भारत को महा विध्वंसक हरपून मिसाइल मिल चुकी है, अमेरिका ने भारत को हरपून मिसाइल देने पर हस्ताक्षर कर दिए है और अब ये मिसाइल भारतीय सेना के पास होगी 
अमेरिका ने 155 मिलियन डॉलर में ही भारत के साथ हरपून मिसाइल की डील कर ली है और इसके साथ साथ कई तरह के तारपीडो भी अमेरिका भारतीय सेना के साथ शेयर करेगा 
हरपून अमेरिकी सेना का सबसे महत्वपूर्ण मिसाइल है, ये हर मौसम में, हर स्तिथि में काम करने वाला मिसाइल है जिस से हवा और जमीन दोनों पर मार किया जाता है, ये हवाई जहाज, पानी के जहाज और जमीन तीनो ही स्थानों से लौंच किया जा सकता है 

इस मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत ये है की इसे अत्याधुनिक राडार भी पकड़ नहीं पाते, यानि इस से प्रहार किया तो दुश्मन तबाह माना जाता है, हरपून मिसाइल के साथ साथ भारत को अमेरिका से अत्याधुनिक तारपीडो भी मिलेंगे जिसे दुश्मन देशों के पानी के जहाज मारने में इस्तेमाल किया जाता है 
अमेरिका ने हरपून डील को काफी लम्बे समय से अटकाया हुआ था पर अब हाइड्रोक्सीकोलोरो कुइने दवाई को देकर भारत ने सिर्फ 10 दिनों में ही अमेरिका से हरपून डील पर साइन करवा लिया 
Sandy Boy (Sundeep)@ssingapuri

Modi gave Hydroxychloroquine to USA
In return (within 10 Days)
USA approves sales of missiles Torpedoes worth $155 million to India. USA FDA clears 4 Indian manufacturing plants in 10 days (Lupin, Dr Reddy’s Strides and Bicon) Salute ⁦Modi
https://www.livemint.com/news/india/us-clears-sale-of-harpoon-missiles-torpedoes-worth-155-million-to-india-11586850126846.html …US clears sale of Harpoon missiles, torpedoes worth $155 million to IndiaSale of 10 AGM-84L Harpoon Block II air-launched missiles is estimated to cost $92 million.16 Mark 54 lightweight torpedoes, and three Mark 54 exercise torpedoes are estimated to cost $63 millionlivemint.com227Twitter Ads info and privacy156 people are talking about thisबता दें की अमेरिका ने भारत से हाइड्रोक्सीकोलोरो कुइने दवाई मांगी थी जिसके बदले भारत ने अमेरिका के फार्मा मार्किट को अपनी कंपनियों के लिए खुलवा लिया है साथ ही साथ कई डील जिसे अमेरिका ने लम्बे समय से लटकाया हुआ था उसे भी क्लियर करवाया जा रहा है, ये नरेंद्र मोदी सरकार की जबरजस्त कामयाबी ही मानी जाएगी जिन्होंने दवाई के बदले अमेरिका से कई चीजें ले ली है 

Leave a Reply

Your email address will not be published.