चमगादड़ से नहीं इस दुर्लभ जानवर से फ़ैल रहा हैं इंसानों में कोरोना वारयस!

ट्रेंडिंग

आपको तो पता ही हैं कि कोरोना वायरस चीन में तेजी से फ़ैलता जा रहा हैं. जिसका असर अब दुसरे देशों में भी देखने को मिल रहा हैं. आपको बता दें कि इस वायरस की वजह से कई लोग अपने जान गवां चुके हैं. कोरोना वायरस के कारण चीन में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के आदेश पर इमरजेंसी की घोषणा कर दी गयी हैं. आपको बता दें कोरोना वायरस को लेकर एक बड़ी ख़बर सामने आई हैं. आइये जानते हैं.

पिछले महीने भर से दुनिया के तमाम वैज्ञानिक इस बात का पता लगाने में जुटे हैं कि आखिर कोरोना वायरस इंसान में आया कैसे? पहले प्रयास लगाए जा रहे थे कि ये वायरस इंसान में चमगादड़ों से फैला है. लेकिन अब इस कयास को काटते हुए चीन के एक शोध में खुलासा हुआ है कि इंसानों में कोरोना वायरस पैंगोलिन से पहुंचा है. यह पहली बार है जब इस दुर्लभ जानवर से इंसानों में कोरोना वायरस फैलने का दावा किया जा रहा है.

पैंगोलिन असल में दुनिया में दुर्लभ होता जा रहा है. स्तनधारी वन्यजीव है जो दिखने में अन्य स्तनधारियों से बिल्कुल अलग व विचित्र आकृति का जिसके शरीर का पृष्ठ भाग खजूर के पेड़ के छिलकों की भाँति कैरोटीन से बने कठोर व मजबूत चौड़े शल्कों से ढका रहता है. दूर से देखने पर यह छोटा डायनासोर जैसा प्रतीत होता है. पैंगोलिन कीड़े-मकोड़े और चींटी खाता है. चीनी शोध का कहना है कि किसी व्यक्ति द्वारा इस जानवर को खाने की वजह से ही कोरोना वायरस के इंसानों में प्रवेश की संभावना जताई जा रही है. 

वैज्ञानिकों का दावा है कि चमगादड़ों में भी कोरोना वायरस पाया जाता है. लेकिन इनसे इंसान में वायरस के प्रवेश की संभावना बेहद कम है. जबकि पैंगोलिन से इंसान में वायरस घुसने की आशंका ज्यादा है. हालांकि अभी तक इस चीनी शोध को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मान्यता नहीं मिली है. लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि अगर ये चीनी वैज्ञानिकों का दावा सही साबित हुआ तो इस वायरस के टीके बनाने में जल्द सफलता मिल सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.