पालघर मॉ-ब लिं-चिं-ग को लेकर हुआ अबतक का सबसे ब-ड़ा खु-ला-सा, स्थानीय सरपंच ने दी ‘गवाही’

ट्रेंडिंग
CopyAMP code

पिछले दिनों महाराष्‍ट्र के पालघर में साधुओं समेत तीन लोगों की मॉ-ब लिं-चिं-ग को लेकर अब तक का सबसे ब-ड़ा ख़ु-ला-सा हुआ है। पालघर के गढ़चिंचले गांव में इन साधुओं की मॉब लिंचिंग की गई, वहां की सरपंच चित्रा चौधरी ने आंखों देखी घ-ट-ना बताई. सरपंच ने उस रात की पूरी घ-ट-ना बताई।

CopyAMP code

चित्रा चौधरी ने एक न्यूज़ चैनल को बताया कि उन्हें 16 अप्रैल की शाम तकरीबन 8:30 बजे पता चला कि चेकपोस्ट पर गाड़ी रोकी गई है. अगले 15 मिनट में (तकरीबन 8:45 पर) वो अपने घर से गाड़ी तक पहुंची. गाड़ी का शीशा बंद था, साधु बाबा ने उन्हें हाथ जोड़कर नमन किया. इन्होंने उनसे पूछा कौन है, कहां जाना है तब तक भी-ड़ ने गाड़ी के टायर की हवा निकाल दी और गाड़ी पलट दी. पुलि-स के आने तक अगले दो तीन घंटे (तकरीबन 11:00-11:15pm) तक उन्होंने भी-ड़ को काफी समझाने की कोशिश की.

कुछ ह-द तक वो भी-ड़ को काफी समय तक काबू में रख पाई थीं. लेकिन भी-ड़ ने उन पर भी ना-रा’ज़-गी जताई. पुलि-स दो लोगों को अपनी गाड़ी में बिठा चुकी थी और बूढ़े बाबा पुलि-स का हाथ थामकर जब फॉरेस्ट की चौकी से बाहर निकले तब हुए हम-ले में मुझे भी चो-ट आई और अपनी जान बचाकर किसी तरह भा-गक-र घर पहुंची. जब सुपरिटेंडेंट साहब पहुंचे तब (तकरीबन रात 12 बजे) मैं दोबारा नीचे गई तब मैंने तीनों की ला-शें वहां देखीं.

इसके बाद सरपंच ने कहा कि भी-ड़ जमा हो गई… काशीनाथ आया… काशीनाथ आया (एनसीपी का नेता)..‌ऐसे चिल्लाने लगे और सीटी बजाने लगे. और भी-ड़ जमा हो गई और मुझे भी ढूंढ रहे थे कि सरपंच ताई कहां गई, सरपंच ताई कहां गई. जब भी-ड़ गाड़ी के शीशे पर प-त्थर मा-र रही थी तब मैं भी अपनी जा-न बचाने के लिए किसी तरह वहां से निकल कर घर आ गई. इसके बाद वहां कैसी तो-ड़-फो-ड़ हुई और म-र्ड-र हुआ वो मैंने नहीं देखा. उस वक़्त वहां काशीनाथ चौधरी था और पुलि-स वाले थे. पुलि-स की हि-रा-स-त में देने और पुलि-स की गाड़ी में पी-ड़ि-तों के बैठ जाने के बाद मेरी ज़िम्मेदारी तो ख-त्म हो गई थी ना. पुलि-स वालों को उनका कर्तव्य निभाना चाहिए था. जब तक मेरी कैपे’सिटी थी मैंने भी-ड़ को 3 घंटे कंट्रोल किया था. अकेली औरत ने इतनी भी-ड़ को कंट्रोल में रखा था और उन लोगों को कुछ नहीं होने दिया.

सरपंच ने कहा-साहब, इतना तो मैंने नहीं देखा. काशीनाथ चौधरी जब आया तब काफी लोगों ने सीटियां बजाईं, और चि’ल्लाने लगे – चौधरी आया, चौधरी आया, अपना दादा (भाई) आया, अपना दादा आया और ऐसे भी-ड़ ज-मा हुई. जब उस साधु को खीं-च कर (गाड़ी से बाहर) निकाल रहे थे तब कुछ लोग मेरे नाम से भी चिल्ला रहे थे कि वो सरपंच ताई कहां गई, उन्हें भी लेकर आओ. जब तक उनको पीछे से मा-रा होगा तब तक मैं अपनी जा-न ब-चाक-र भा-गी.

122 thoughts on “पालघर मॉ-ब लिं-चिं-ग को लेकर हुआ अबतक का सबसे ब-ड़ा खु-ला-सा, स्थानीय सरपंच ने दी ‘गवाही’

  1. Taxi moto line
    128 Rue la Boétie
    75008 Paris
    +33 6 51 612 712  

    Taxi moto paris

    Do you have a spam issue on this blog; I
    also am a blogger, and I was curious about your situation;
    many of us have created some nice practices
    and we are looking to trade strategies with other folks, why not shoot me an e-mail if interested.

  2. Usually I don’t learn article on blogs, however I would like to say that this write-up very forced me to check out and do so! Your writing style has been surprised me. Thank you, quite nice article.|

  3. I believe everything said was actually very reasonable.
    However, think about this, suppose you were
    to write a killer headline? I am not suggesting your
    information is not solid, however suppose you added something that makes people want more?

    I mean पालघर मॉ-ब लिं-चिं-ग को लेकर हुआ अबतक का सबसे ब-ड़ा खु-ला-सा, स्थानीय सरपंच
    ने दी ‘गवाही’ – credible is a
    little vanilla. You might peek at Yahoo’s home page and see how they create article headlines to grab people interested.
    You might add a related video or a picture or two to grab people interested about everything’ve got to say.
    In my opinion, it would make your posts a little bit more interesting.

  4. I am not sure where you’re getting your
    information, but great topic. I needs to spend some time
    learning more or understanding more. Thanks for great
    info I was looking for this information for my mission.

  5. When I initially commented I clicked the “Notify me when new comments are added”
    checkbox and now each time a comment is added I get several e-mails with the same comment.
    Is there any way you can remove people from that service?
    Appreciate it!

  6. Etkileşimi Arttırmak İçin Takipçi ve Beğeni Satın Almalısınız

    Özellikle yeni açılan sosyal medya hesaplarının en büyük sorunları arasında takipçi
    sayısının düşüklüğü ve paylaşımlarda etkileşim olmamasıdır.
    Beğeni ve yorumların gelmesi sosyal medya hesaplarının gelişimine katkı sağlamaktadır.

    Özellikle çok takipçisi bulunan ve paylaşımları beğenilerek yorum yapılan hesaplar ilgi çekmektedir.
    Takipçi Satın Al işlemleri sayesinde hızlı bir etkileşim
    sağlanabilmektedir. Ancak tüm hizmetlerde olduğu gibi bu hizmetlerinde farklı seçenekleri bulunmaktadır.

    https://rebrand.ly/takipci-satin-al

  7. I believe what you posted was actually very reasonable. But, consider this,
    suppose you added a little information? I mean, I don’t
    want to tell you how to run your blog, however suppose you added something that makes people want more?

    I mean पालघर मॉ-ब लिं-चिं-ग को लेकर हुआ अबतक
    का सबसे ब-ड़ा खु-ला-सा, स्थानीय सरपंच ने
    दी ‘गवाही’ – credible is a little vanilla.
    You ought to look at Yahoo’s home page and see how they create article
    headlines to grab viewers to click. You might try adding a video or a related picture or two to get people interested about what you’ve written. Just my opinion, it would bring your posts a little bit more
    interesting.

Leave a Reply

Your email address will not be published.