अभी-अभीः 40 सैनिकों के मारे जाने पर चीन ने दिया ये बडा बयान…

ट्रेंडिंग
CopyAMP code

लद्दाख।भारत के साथ सीमा पर उलझ रहे चीन के दक्षिण भाग में करोड़ों लोग भीषण बाढ़ का सामना कर रहे हैं। लगातार मूसलाधार बारिश की वजह से चीन के इस हिस्से में 80 साल का सबसे बड़ा जल प्रलय आ गया है। यहां तक कि चीन में बने दुनिया के सबसे बड़े बांध थ्री गोर्जेस डैम पर भी खतरा मंडरा रहा है। यदि यह बांध टूटा तो करीब दो दर्जन राज्यों में भारी तबाही मचेगी। हालांकि, चीन सरकार का कहना है कि बांध मजबूत है और पश्चिमी देश बांध को लेकर अफवाह फैला रहे हैं।

CopyAMP code

चीन के मौसम विभाग ने यांग्त्सी नदी के मध्यम और निचले हिस्से में बाढ़ को लेकर सबसा ऊंचा अलर्ट जारी किया है। गुइजहाउ तक लोगों को चेतावनी दी गई है। मंगलवार और बुधवार (23, 24 जून) को और अधिक बारिश हो सकती है। इसके लेकर चीन के 10 राज्यों और शहरों में अलर्ट किया गया है, जिनमें गुइजहाउ, चोन्गकिंग, हुनान, हुबेई, जियांगशी, अनहुई, जियांगशु, झिजियांग, शंघाई और गुआंगशी में बाढ़ से तबाही आ सकती है।

गुइजहाउ में खेतों और रिहायशी इलाकों में पानी भर चकुा है। कई इलाके पूरी तरह पानी में डूब चुके हैं। सरकार की ओर से तो कोई आंकड़ा जारी नहीं किया गया है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक करीब 20 लोगों की मौत हो चुकी है।

चोन्गकिंग म्यूनिसिपल हाइड्रोलॉजिकल मॉनिटरिंग स्टेशन ने सोमवार (22 जून) को 80 साल में पहली बार क्विजियांग नदी में बाढ़ को लेकर अलर्ट जारी किया। बताया गया है कि अगले 8-10 घंटे में इस इलाके में भीषण बाढ़ का खतरा है