खुशखबरी : सिर्फ 5 दिन में खत्म होगा कोरोना, वैज्ञानिकों ने दिये…….??

ट्रेंडिंग
CopyAMP code

यरुशलम की हिब्रू यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर याकोव नहमियास और न्यूयॉर्क इकाहन स्कूल ऑफ मेडिसिन के डॉ. बेंजामिन टेनओवर पिछले तीन महीने से कोरोना की दवा को लेकर स्टडी कर रहे थे। लैब में की गई स्टडी के दौरान, कोलेस्ट्रॉल घटाने वाली दवा से काफी सकारात्मक नतीजे मिले।

CopyAMP code

डेली मेल पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों वैज्ञानिकों का मानना है कि इस स्टडी से यह समझने में मदद मिल सकती है कि क्यों हाई ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल लेवल वाले कोरोना मरीज हाई रिस्क कैटेगरी में चले जाते हैं।

प्रोफेसर नहमियास और डॉ. टेनओवर ने स्टडी के दौरान अपना ध्यान इस चीज पर केंद्रित किया था कि कैसे कोरोना वायरस मरीज के फेफड़ों को प्रभावित करते हैं। वैज्ञानिकों को पता चला कि वायरस कार्बोहाइड्रेट के रुटीन बर्निंग को रोक देते हैं। इसकी वजह से काफी अधिक फैट फेफड़ों के सेल में जमा हो जाता है।

स्टडी के मुताबिक, Fenofibrate दवा के इस्तेमाल से फेफड़ों के सेल्स अधिक फैट बर्न करते हैं और इसकी वजह से कोरोना वायरस कमजोर पड़ जाता है और खुद को रिप्रोड्यूस नहीं कर पाता। लैब स्टडी के दौरान, सिर्फ 5 दिन के ट्रीटमेंट के बाद वायरस खत्म हो गए।