अमेरिकी सीनेट में लाया गया ऐसा प्रस्ताव जिससे चीन की किरकिरी होनी तय है!

ट्रेंडिंग
CopyAMP code

नई दिल्ली। वास्तविक नियंत्रण रेखा(LAC) पर चीन की चालबाजियों को देखते हुए अमेरिका ने भारत का साथ दिया है। गुरुवार को अमेरिकी सीनेट में LAC पर चीन की आक्रमकता को लेकर आलोचना प्रस्ताव पेश किया गया। इस प्रस्ताव को अमेरिकी सीनेट में गुरुवार को एक द्विदलीय प्रस्ताव पेश किया गया। इसके जरिए चीन द्वारा भारत के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा को बदलने के लिए सैन्य आक्रामकता के उपयोग की निंदा करने और एक राजनयिक समाधान का आह्वान किया गया है।

CopyAMP code
America Senet

सीनेट में बहुमत की पार्टी रिपब्लिकन के व्हिप सीनेटर जॉन कोर्निन और खुफिया मामलों पर सीनेट की प्रवर समिति के रैंकिंग सदस्य सीनेटर मार्क वार्नर का यह प्रस्ताव चीन द्वारा पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना की गतिविधियों के बाद आया है। कोर्निन और वार्नर सीनेट इंडिया कॉकस के सह-अध्यक्ष हैं। कोर्निन ने कहा, ‘सीनेट इंडिया कॉकस के सह-संस्थापक के रूप में, मुझे अमेरिका और भारत के बीच मजबूत संबंधों का महत्व स्पष्ट रूप से पता है।’ उन्होंने इस मुद्दे के राजनियक समाधान की भी वकालत की है।

indo china border

सीनेटर ने कहा, ‘मैं चीन के खिलाफ खड़े होने और हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को स्वतंत्र बनाए रखने में भारत की प्रतिबद्धता की प्रशंसा करता हूं। हमेशा के मुकाबले अब यह ज्यादा जरूरी है कि हम अपने भारतीय साझेदारों का साथ दें, क्योंकि वे चीनी आक्रामकता के खिलाफ बचाव कर रहे हैं।’

Indian china

चीनी ऐप्स पर भारतीय प्रतिबंध का उल्लेख किए बिना प्रस्ताव में कहा गया कि हम भारत को चीनी सुरक्षा खतरों से अपने दूरसंचार बुनियादी ढांचे को सुरक्षित करने के लिए कदम उठाने के लिए सराहना करते हैं और संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के बीच रक्षा, खुफिया और आर्थिक संबंधों को गहरा करने के लिए प्रतिबद्धता चाहते हैं।