क्राईम ब्रांच को मिला तबलीगी जमात के मौलाना साद का ठिकाना, जानिए क्यों हो रही एक्शन में देरी?

ट्रेंडिंग

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच तबलीगी जमात के मरकज में हुई बड़ी लापरवाही को लेकर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को बड़ी सफलता हाथ लगी है। माना जा रहा है कि क्राइम ब्रांच ने मरकज के मौलाना साद के उस ठिकाने का पता लगा लिया है, जहां वह छुपे हुए हैं। क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक, मौलाना साद दिल्ली के जाकिर नगर में स्थित अपने घर में क्वारंटाइन हैं। हालांकि, दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि मौलाना साद से अभी पूछताछ नहीं कर सकती है। दरअसल, जमात से जुड़े अधिकतर लोगों में जिस तरह से कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है, उससे यह भी आशंका है कि मौलाना साद भी कोरोना की चपेट में न आ गए हों। इसलिए एहतियातन क्राइम ब्रांच अभी मौलाना साद के क्वारंटाइन अवधि के पूरा होने का इंतजार कर रही है।<br /> निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के कोरोना संक्रमण को लेकर बरती गई बड़ी लापरवाही का खुलासा होने के बाद नामदज किए गए मरकज प्रमुख मौलाना साद समेत प्रबंधन से जुड़े कुल लोग दिल्ली में ही अपने-अपने घरों में होम क्वारंटाइन हैं। मामले की जांच में जुटी क्राइम ब्रांच सूत्रों की मानें तो कोई फरार नहीं हुआ है। ऐसे में मौलाना साद से फिलहाल पूछताछ संभव नहीं है। देश में सबसे बड़े कोरोना वायरस हॉटस्पॉट के रूप में उभरे दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में हुई बड़ी लापरवाही के मुख्य आरोपी मौलाना साद और प्रबंधन से जुड़े पदाधिकारियों से क्राइम ब्रांच ने सवाल पूछे हैं। मौलाना साद के नाम से जारी नोटिस में 26 सवालों का जवाब पूरे विवरण के साथ मांगा है। संगठन के रजिस्ट्रेशन से लेकर उससे जुड़ी कई गतिविधियों से जुड़ी जानकारियां शामिल हैं।<br /> क्राइम ब्रांच ने मरकज से जुड़े जमात के 11 लोगों से पूछताछ की है। उनके जरिए जांच से जुड़े कुछ तथ्यों का पता लगाने का प्रयास किया गया। बरामद दस्तावेजों से जुड़ी जानकारी के बारे में पूछताछ की गई। मरकज आने वाले लोगों की एंट्री के काम से जुड़े कर्मियों का ब्योरा भी लिया गया है। दरअसल पुलिस को शक है कि एंट्री से जुड़े कुछ दस्तावेज मिसिंग हैं। इसके अलावा कुछ महत्वपूर्ण जानकारी को लेकर क्रॉसचेक करना चाहती है। दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में हुई इस बडी लापरवाही की जांच क्राइम बांच की टीम कर रही है। एफआईआर मौलाना साद समेत प्रबंधन से जुड़े कुल सात लोगों के नाम को शामिल किया गया है। यह एफआईआर निजामुद्दीन थाने के एसएचओ मुकेश वालिया की शिकायत पर की गई है। एफआईआर में मौलाना साद के अलावा डॉक्टर जीशान, मुफ़्ती शहजाद, मोहम्मद अशरफ, मुर्सलीन सैफ़ी, यूनिस, और मोहम्मद सलमान के नाम शामिल हैं।

2 thoughts on “क्राईम ब्रांच को मिला तबलीगी जमात के मौलाना साद का ठिकाना, जानिए क्यों हो रही एक्शन में देरी?

  1. Taxi moto line
    128 Rue la Boétie
    75008 Paris
    +33 6 51 612 712  

    Taxi moto paris

    Oh my goodness! Impressive article dude! Thank you so much, However I am encountering difficulties with your RSS.
    I don’t understand why I can’t subscribe to it. Is there anybody else getting similar RSS problems?
    Anyone who knows the solution can you kindly respond?
    Thanks!!

Leave a Reply

Your email address will not be published.