घबराई चीन की सेना, थोड़ी देर में भारत …….

ट्रेंडिंग

नई दिल्ली: बृहस्पतिवार को फ्रांस से भारतीय सेना में शामिल होने के लिए आ रहे तीन नए राफेल फाइटर जेट्स रात तक भारत के अंबाला पहुंचेंगे। बताया जा रहा कि ये तीनों फाइटर जेट फ्रांस से सीधी उड़ान भरकर बुधवार की शाम जामनगर पहुंचे थे। ऐसे में अब इन तीनों राफेल को मिलाकर अब भारतीय वायुसेना में रफाल फाइटर जेट्स की कुल संख्या 8 हो गई है। दुश्मनों देशों को अब और भी चौकन्ना रहने की जरूरत है।

फ्रांस से कुल 36 रफाल फाइटर जेट्स
दरअसल भारतीय वायु सेना को फ्रांस से कुल 36 रफाल फाइटर जेट्स मिलने हैं। ऐसे में वायु सेना की दो स्क्वाड्रन बनाई जाएंगी, जिनमें से एक पश्चिम में अंबाला और दूसरी पूर्व में हाशीमारा में रहेगी। इसी कड़ी में अंबाला में राफेल विमानों का पहला बैच 29 जुलाई को भारत पहुंचा था। वहीं पहले बैच में आए राफेल फाइटर जेट्स को करीब एक महीने में ही ऑपरेशन में उतार दिया गया और उन्होंने सितंबर से लद्दाख में कॉम्बेट एयर पेट्रोलिंग शुरू कर दी थी। जिससे दुश्मनों के छक्के छूट गए।

8 घंटे की उड़ान भरी
ऐसे में बुधवार को जामनगर पहुंचे राफेल फाइटर जेट्स ने फ्रांस से 8 घंटे की उड़ान भरी, जिसमें इनका लंबी दूरी की उड़ान के दौरान प्रदर्शन जांचा गया। राफेल की इस उड़ान में इन जेट्ल में तीन बार हवा में ईंधन भरा गया। बता दें, भारतीय वायु सेनाध्यक्ष एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने 5 अक्टूबर को कहा था कि हर तीन महीने में 3-4 रफाल आएंगे और अगले साल अप्रैल तक पहली स्क्वाड्रन के सभी 16 फाइटर जेट्स भारतीय वायु सेना को मिल जाने की उम्मीद है। सबसे बड़ी बात तो ये है कि राफेल उस समय भारत के पास आया है, जब उसकी भारतीय वायु सेना को बहुत ज्यादा जरूरत थी। मई से भारतीय और चीनी सेनाएं लद्दाख में एक-दूसरे के सामने मजबूती से हुई हैं, ये तनाव अभी भी बरकरार है।