अभी अभीः कोरोना पर आमने-सामने आये अमेरिका और चीन, जमकर झडप

ट्रेंडिंग
CopyAMP code

कोरोना वायरस महासंकट के समाधान को लेकर हुई संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक बेनतीजा रही। बैठक के दौरान इस महामारी के गढ़ रहे चीन और कोरोना से बुरी तरह से जूझ रहे अमेरिका के बीच तीखी नोकझोंक देखने को मिली। दो महाशक्तियों के बीच बहस के बाद संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस को हस्तक्षेप करना पड़ा। उन्;होंने सभी देशों से एकजुट रहने का आह्वान किया। फरार जमातियों और शरण देने वालों को होगी, इतने साल की सजा” फरार जमातियों और शरण देने वालों को होगी, इतने साल की सजा>लंबे समय के इंतजार के बाद संयुक्;त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक हुई। सभी देशों को उम्मीद थी कि इस महामारी से निपटने के लिए बैठक से कुछ ठोस नतीजा निकलकर सामने आएगा। हालांकि हुआ इसका ठीक उल्टा। संयुक्;त राष्;ट्र में चीन के राजदूत झांग जून ने कहा कि उनके देश को इस महमारी के लिए बलि का बकरा न बनाया जाए। उन्होंने कहा कि इस महासंकट से निपटने के लिए वैश्विक एकजुटता की जरूरत है। किसी देश को बलि का बकरा बनाए जाने से हम कहीं के नहीं रहेंगे। कोरोना वायरस को लेकर चीन की भूमिका पर कई गंभीर सवाल उठ रहे हैं। इसलिए उसकी दुनियाभर में आलोचना हो रही है। चीन पर सूचनाओं को छिपाने का आरोप लग रहा है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप खुलेआम कोरोना वायरस को ;चीनी वायरसकह चुके हैं। ट्रंप के इस बयान के बाद काफी विवाद हुआ था। चीन ने भी दावा किया था कि अमेरिकी सेना कोरोना वायरस को वुहान लाई थी। बता दें कि चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था।

CopyAMP code

उधर, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में भी अमेरिका का हमलावर रुख बरकरार रहा। अमेरिका के राजदूत ने मांग की कि इस वायरस की कहां पर उत्पत्ति हुई, इसकी जांच की जाए। साथ ही अमेरिका ने यह भी मांग की कि हेल्थ डेटा को सही समय पर शेयर किया जाए। अमेरिकी राजदूत केली क्राफ्ट ने कहा, अमेरिका ने आज इस बात पर जोर दिया कि पब्लिक हेल्थ डेटा और सूचना की अंतरराष्ट्रीय समुदाय से पारदर्शी तरीके से सही समय पर शेयरिंग की जाए।अमेरिका और चीन के बीच नोक झोक के बाद संयुक्महासचिव एंतोनियो गुतारेस को आगे आना पड़ा। उन्होंने सुरक्षा परिषद से कोविड-19 महामारी से निपटने में एकजुट रहने का आह्वान किया। उन्होंने इसे ‘एक पीढ़ी की लड़ाई’ करार दिया। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कोरोना वायरस पर पहली बैठक में सुरक्षा परिषद से अपील करते हुए कहा, ‘इस मुश्किल समय में परिषद का एकजुट होकर इससे निपटने के लिए संकल्प लेना बहुत महत्वपूर्ण है।

16 thoughts on “अभी अभीः कोरोना पर आमने-सामने आये अमेरिका और चीन, जमकर झडप

  1. Taxi moto line
    128 Rue la Boétie
    75008 Paris
    +33 6 51 612 712  

    Taxi moto paris

    Hi! I just wanted to ask if you ever have any problems with hackers?
    My last blog (wordpress) was hacked and I ended up losing a few months of hard
    work due to no backup. Do you have any methods to prevent hackers?

  2. Hello there! This post could not be written any better! Reading through this post reminds me of my good old room mate! He always kept talking about this. I will forward this article to him. Fairly certain he will have a good read. Many thanks for sharing!|

Leave a Reply

Your email address will not be published.