अभी-अभी: 2000 के नोट को लेकर आई बड़ी खबर, बंद किए जा रहे…

ट्रेंडिंग

गोरखपुर. अब एटीएम से दो हजार के नोट नहीं मिलेंगे। रिजर्व बैंक से दो हजार के नोट मिलने फिलहाल बंद हो गए हैं। बैंक भी एटीएम मशीन से दो हजार के नोट वाले कैलिबर निकालने लगे हैं। सेण्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया ने इसकी शुरुआत कर दी है। सेंट्रल बैंक अपने 58 एटीएम मशीन से कैलिबर निकाल चुका है। अन्य बैंकों का भी कहना है कि अब एटीएम में सिर्फ 100, 200 व 500 रुपये के नोट ही लोड किए जा रहे है।

सेण्ट्रल बैंक के मण्डल प्रमुख एलबी झा कहते है कि कई महीने से आरबीआई से दो हजार के नोट नहीं मिले हैं। बाजार से भी शाखाओं में दो हजार के नोट बहुत कम आ रहे हैं। ऐसी भी सूचना आ रही है कि आरबीआई ने दो हजार के नोट की छपाई बंद कर दी है। दो हजार के नोट के संकट को देखते हुए परिक्षेत्र के 58 एमटीएम मशीन से दो हजार की नोट के कैलिबर हटा कर 500 के लगाए गए है। ताकि अधिक से अधिक नोट एटीएम में लोड किए जा सके।

यूनियन बैंक का कहना है कि एटीएम मशीन में 500, 200 व 100 के नोट भी डाले जा रहे है। आरबीआई से दो हजार की नोट आने की उम्मीद भी नजर नहीं आ रही है। क्योंकि बीते पांच महीने से एक बार भी दो हजार के नोट के बंण्डल नहीं आए है। बड़ौदा यूपी बैंक के रीजन-एक के क्षेत्रीय प्रबन्धक अखिलेश सिंह कहते हैं कि आरबीआई से दो हजार के नोट नहीं आने से बड़ा भुगतान लेने वाले खाताधारकों को भी 500 रुपये व 100 रुपये के ही नोट दिए जा रहे हैं। पीएनबी के एजीएम संतोष कुमार यादव का कहना है कि दो हजार के नोट का संकट हर जगह है। शाखाओं में जमा करने के लिए आने वाली दो हजार के नोट को एटीएम में भरा नहीं जा सकता है।

शहर व ग्रामीण क्षेत्र में विभिन्न बैंकों के 512 एटीएम बूथ
लीड बैंक प्रबन्धक रामअधार सोनकर कहते है कि जनपद में विभिन्न बैंकों की 512 एटीएम मशीनें हैं। शहरी क्षेत्र में 250 व ग्रामीण क्षेत्र में 262 एटीएम बूथ हैं। इनमे कैश लोड करने की जिम्मेदारी बैंकों की है। कुछ बैंकों ने निजी वेण्डरों को भी कैश भरने की जिम्मेदारी दी है। आरबीआई से दो हजार के नोट बैंकों के करेंसी चेस्ट में नहीं आ रही हैं। जो नोट उपलब्ध होंगे उसे ही एटीएम में लोड किया जाएगा।

जिले में विभिन्न बैंकों के एटीएम बूथ
बैंक एटीएम बूथ
एसबीआई 220
पीएनबी 100
यूनियन बैंक 70
सेण्ट्रल बैंक 58
अन्य बैंक व निजी बैंक 64