चीन ने युद्ध की तैयारियों के लिए रक्षा नियमों में किया संशोधन- प्रेस रिव्यू

ट्रेंडिंग

द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने चीन के नेशनल डिफेंस लॉ में बदलाव के आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं.

इसके बाद सेंट्रल मिलिटरी कमिशन (सीएमसी) के पास राष्ट्रीय हितों की रक्षा के लिए सेना को तैनात करने की अधिक शक्तियां होंगी. राष्ट्रपति जिनपिंग ही सीएमसी के प्रमुख हैं.

अख़बार ने चीन की समाचार एजेंसी शिन्हुआ के हवाले से बताया है कि नए बदलाव युद्ध की तैयारी और क्षमता बढ़ाने पर केंद्रित हैं.

नए बदलाव के तहत ‘जब भी संप्रभुता, एकता, क्षेत्रीय अखंडता, सुरक्षा या विकास के हित ख़तरे में होंगे तो वह राष्ट्रीय और स्थानीय स्तर पर सेना की तैनाती कर सकेगा.

‘विकास के हित’ संदर्भ को क़ानून में नया जोड़ा गया है. विशेषज्ञों का मानना है कि इसके तहत चीन के आर्थिक हितों और विदेशों में संपत्तियों की सुरक्षा की जा सकेगी. यानी बेल्ट एंड रोड अभियान के तहत आने वाली संपत्तियों की सुरक्षा के लिए भी सेना की तैनाती की जा सकेगी.