चमत्कार-: महादेव मंदिर, जहां दिन में तीन बार रंग बदलता है शिवलिंग..

ट्रेंडिंग
CopyAMP code

दुनिया में कई अजीबोगरीब नजारे हैं जिसके पीछे का रहस्य अब तक उलझा है. भगवान शिव का हिंदू धर्म में विशेष महत्व है. भोलेशंकर को देवों के देव महादेव भी कहते हैं. भगवान शिव के चमत्कारों का उल्लेख पौराणिक कथाओं में भी मिलता है. भगवान शिव के हजारों मंदिर हैं देश में जो चमत्कारों से भरे हुए हैं. जिनका आजतक रहस्य नहीं सुलझ पाया है. ऐसा ही एक मंदिर है अचलेश्वर महादेव मंदिर में जो वैज्ञानिकों के लिए चुनौ’ती बना हुआ है.

CopyAMP code

राजस्थान के रेतीली धरती में कई रहस्य द’फन हैं. यहां धौलपुर में स्थित अ’चलेश्वर महादेव के मंदिर में भगवान शिव का अद्भुत च’मत्कार देखा जा सकता है. इस मंदिर का शिवलिंग दिन में 3 बार रंग बदलता है. यह शिवलिंग देखने में बिल्‍कुल आम है, लेकिन इसके बदलते हुए खूबसूरत रंग सभी को हैरान कर देते हैं. 

वैज्ञानिकों के लिए चुनौती 

गौरतलब है कि यह शिवलिंग दिन में 3 बार अपना रंग बदलता है. इसके पीछे के रह’स्य को सुलझाना वैज्ञानिकों के लिए चुनौती बन गई है. बता दें कि इस शिवलिंग का रंग सुबह के समय लाल होता है. दोपहर के समय इसका रंग केसरिया में बदल जाता है. रात होते होते ही ये श्‍याम रंग का हो जाता है. सबसे बड़ी बात ये है कि इसका अंतिम छोर कहा है इसके बारे में आजतक कोई नहीं जान पाया. 

शिवलिंग की रह’स्यमयी जड़

स्थानीय निवासी बताते हैं कि अब तक इस शिवलिंग की जड़ तक कोई नहीं पहुंच पाया है. ये शिवलिंग धरती में बेहद गहराई से जुड़ा हुआ है. इसका पता लगाने के लिए एक बार इसकी खुदाई का काम भी किया गया. कई दिनों तक खुदाई के बाद भी लोग इसके अंतिम छोर तक नहीं पहुंच पाए और इसके बाद खुदाई का काम रोक दिया गया.

अद्भुत है कृपा 

इस अद्भुत अचलेश्वर महादेव मंदिर में लोगों की काफी श्रद्धा है. कहते हैं कि इस रहस्यमयी शिवलिंग के दर्शन करने मात्र से इंसान की सभी इच्‍छाएं पूरी होती है और जीवन की सभी तरह की तकली’फ दूर हो जाती हैं.

मनचाहे जीवन साथी की कामना 

यहां आने वाले भक्त मनचाहे जीवन साथी की कामना करते हैं. कहते हैं कि अगर कोई अविवाहित अपने प्रियतम की मन में मुराद लेकर इस शिवलिंग के दर्शन कर ले तो उनकी कामना पूर्ण हो जाती है.