बदायूं गैं’गरे’प: ब’लात्कारी महंत ने किए ऐसे खु’लासे, जानकर है’रान हुए लोग……

ट्रेंडिंग
CopyAMP code

बदायूं पु’लिस की महंत से पूछताछ में कई अहम खु’लासे हुए हैं। पु’लिस सूत्रों का दावा है कि महंत बहुत शा’तिर निकला। उसने दो महिलाओं से प्रेम सं’बंध की बात कु’बूली है। देर रात तक कई दौ’र की पूछताछ में महंत ने ह’त्या और गैं’गरे’प से इनकार किया। उसने कहा आंगनबाड़ी कार्यकत्री की कुएं में गिरकर मौ’त हो गई थी।

CopyAMP code

बदायूं के उघैती इलाके में गुरुवार देर रात को पु’लिस ने महंत सत्य नारायण सिंह को गि’रफ्तार कर लिया। पु’लिस की कड़ी पूछताछ में महंत ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकत्री समेत एक अन्य महिला से उसके प्रेम संबंध थे। इसको लेकर महिला का उससे झग’ड़ा हो गया। गु’स्से में म’हिला कुएं में कूद गई, जिससे उसकी मौ’त हो गई। महिला के कुएं में गिरने से महंत घ’बरा गया। उसने इसकी सूचना किसी को नहीं दी। पु’लिस ने गैं’गरेप और ह’त्या के बा’बत जितनी बार भी महंत से पूछताछ की वह अपना ब’यान दोह’राता रहा।

महंत ने संबंध होने की बात स्वीकार की है लेकिन ह’त्या और गैं’गरे’प की बात से इनकार किया। पु’लिस अब और सख्ती से पूछताछ कर रही है। इसके अलावा महंत से जुड़ी एक अन्य महिला से भी पूछताछ की जाएगी। महंत ने उसका भी नाम पता पु’लिस को बताया है। पुलि’स सूत्रों के मुताबिक महंत से जो बातें पता चली हैं उसके अनुसार धर्म स्थल में कई महिलाओं का आना जाना था। इनमें से महंत दो महिलाओं के करीब आ गए थे। इसी वजह से घ’टना हो गई।

बदायूं के उघैती थाना क्षेत्र तीन जनवरी की रात 50 वर्षीय आं’गनबाड़ी सहायिका की गैं’गरे’प के बाद ह’त्या कर दी गई थी। पो’स्टमा’र्टम रिपोर्ट में महिला के साथ निर्भया जैसी दरिं’दगी का स’बूत मिला था। गु’प्तां’ग में रॉड जैसी कोई चीज डालने का मा’मला सामने आया था। उसकी बाईं पसली, बायां पैर और बायां फेफड़ा भी वजनदार प्रहार से क्ष’तिग्र’स्त कर दिया गया था। महिला के प्राइ’वेट पा’र्ट में गंभी’र घा’व थे। काफी खू’न भी निकल गया था। रिपो’र्ट में कोई लोहे की रॉड या सब्बल गु’प्तां’ग में ठूंसे जाने की बात भी सामने आई। पो’स्टमा’र्टम रिपोर्ट देख अफसर हैरत में थे। पो’स्टमार्ट’म रिपोर्ट के बाद उघैती पु’लिस ने धर्मस्थल के महंत सत्यनारायण दास, उसके सहयोगी वेदराम व यशपाल के खि’लाफ दु’ष्कर्म और ह’त्या का मुक’दमा द’र्ज किया था। वेदराम व यशपाल को गि’रफ्ता’र कर जे’ल भेज दिया गया था। फ’रार महंत सत्यनारायण दास पर 50 हजार का इनाम घोषित किया गया था।

महिला आयोग की सदस्य पी़’डित परिवार से मिलीं

राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य चन्द्रमुखी गांव पहुंची और परिवार से मुलाकात कर बोलीं, महिलाओं को लेकर सरकार तो गं’भीर है लेकिन अधिकारी नहीं हैं। उघैती कां’ड पु’लिस की ला’परवाही का नतीजा है। पु’लिस चाहती तो महिला की जान बच सकती थी। राज्य महिला आयोग की सदस्य मिथलेश अग्रवाल ने भी परिवार से मुलाकात की और न्याय का भरोसा दिलाय़ा।