इस गाँव मे पुरुष की मौ’त के बाद काट दिया जाता हैं औरतों का ये अंग..

ट्रेंडिंग

शर्मनाक : दुनिया में कई अजीबो’गरीब परम्प’राएं हैं जिनके बारें में हम सोच भी नहीं सकते। आज हम आपको एक ऐसी परंपरा के बारें में बता’एंगे जो अवि’श्वस’नीय हैं। दरअ’सल एक जन’जाति की परंपरा हैं कि अगर इनके किसी पुरुष की मौ’त हो जाती हैं तो उस घर की महि’लाओं की अंगु’लियां काट दी जाती हैं। या तो महिलाएं खुद अपनी अंगु’लियां काट लेती हैं नहीं घर का कोई सद’स्य जबर्द’स्ती महिलाओं की अंगु’लियां काट देता हैं। यह जनजाति इंडोने’शिया के पश्चिमी न्यू गिनी में पाई जाती हैं। इस जन’जाति के लोग पुराने रीतिरि’वाजों को आज भी मानते है.

इस जनजाति के लोगों का मानना हैं कि महि’लाओं की अं’गुली काटने से से होने वाले दर्द से मर’ने वाले व्य’क्ति की आ’त्मा को शां’ति मिलती हैं। किसी व्यक्ति के मर जाने पर उस घर की महि’लाओं की अंगुली ऐसे ही आसानी से नहीं काटी जाती हैं बल्कि महिलाओं की अंगुली काटने से पहले आधे घंटे तक उनको बांधा जाता हैं। फिर अंगु’लियों को काट कर जला दिया जाता हैं। बता दें इंडो’नेशिया की सरकार ने इस प्रथा को बैन कर दिया हैं लेकिन अभी भी यहां के दूरदराज के इलाकों में ये दर्द’नाक प्रथा चल रही हैं।

इसके अलावा इस जन’जाति के लोग किसी घर के मुखिया की मृ’त्यु होने के बाद उसके घर की सभी महिला सद’स्यों की अंगु’लियां कु’ल्हा’ड़ी से काट दिया जाता हैं और यहीं नहीं उनके चेहरे पर का’लिख और मिटटी का तेल पोतकर उन्हें सरे’आम पूरे काबिले में शर्मिं’दा भी किया जाता हैं। बता दें आज भी अफ्रीका, ऑस्ट्रे’लिया, भारत और इंडोने’शिया में कई ऐसी जनजा’तियां रहती हैं जो अपनी हजारों साल पुरानी जीवन पद्ध’ति को जारी रखे हुए हैं। इंडोने’शिया के पपुआ’गिनी द्वीप में रहने वाली दानी जनजाति में आज भी एक ऐसा रिवाज प्रचलित हैं। इस जानजाति की महि’लाओं को किसी रिश्ते’दार की मौ’त पर अपनी अंगु’लियों के सिरे को का’टना पड़ता हैं।