मोदी सरकार ने लिया ऐतिहासिक फैसला, जिसकी मांग लम्बे समय से हो रही थी

ट्रेंडिंग

मोदी सरकार जब से सत्ता में आयी है तब से वो कई ऐसे फैसले ले रही है जिसकी मांग जनता काफी लम्बे समय से कर रही थी और इन फैसलों से कही न कही लोग खुश भी हो ही रहे है क्योंकि जब कोई फैसला लोगो की पसंद का होता है और असमानता को खत्म करने वाला होता है तो उसकी तारीफ़ तो होती ही है. अगर हम लोग अभी की बात करे तो हाल ही में सरकार ने संसद की केन्टीन को लेकर के बड़ा फैसला किया है.

सरकार ने बंद की संसद केन्टीन में मिलने वाले खाने पर सब्सिडी, बचेंगे हर साल 8 करोड़
आपको मालूम हो तो अब तक सभी सांसदों नेताओं को संसद में मौजूद केन्टीन में बहुत ही बड़े लेवल पर सब्सिडी मिलती थी जिससे उनको खाना लगभग नगण्य कीमत पर या फिर आप कहे फ्री के बराबर में ही मिलता था जिस पर लोग काफी नाराज होते थे कि इतने बड़े बड़े लोगो को भला खाने में सब्सिडी की जरूरत क्या है? हर साल करोडो का होने वाला ये फालतू का खर्च रोका जाना चाहिए और सरकार का ध्यान वाकई में इस बात पर चला भी गया.

इसी पर मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सरकार ने फैसला लिया है कि ये चीजे अब रोकी जानी चाहिए और उत्तरी रेलवे से निकालकर के ये ठेका अब आईटीडीसी को दिया जाएगा और वही संसद की केंटीन आदि का संचालन करेगा और कीमत जो बाजार में होती है वो वहाँ पर भी होने वाली है तो कही न कही ये बहुत ही सही फैसला हो सकता है ऐसा माना जा रहा है क्योंकि लोगो के मन में इससे ये सन्देश जाएगा कि हमसे सिलेंडर की सब्सिडी छोड़ने को कहा था तो सरकारी लोग भी अपनी खाने की सब्सिडी छोड़ रहे है.

इन सबके अलावा भी कई सारे ऐसे फैसले है जो सरकार से लेने के लिए कहा जा रहा है और मोदी सरकार इस सम्बन्ध में काम कर रही है जो अपने आप में काफी बड़ी बात है और इसकी तारीफ़ की जानी चाहिए.