अभी अभी भारत में कोरोना वायरस पर हुआ नया खुलासा, चमगादड़ नहीं इस जानवर द्वारा लोगों में फैला!

ट्रेंडिंग
CopyAMP code

देश में कोरोना का कहर बढ़ाता ही जा रहा है. अब तक मरीजों की संख्या 1100 के पार पहुंच चुकी है. हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक देश में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 11439 हैं, इनमें 9756 एक्टिव पेशेंट है. वहीं दूसरी ओर अब तक मरने वालों की संख्या 377 हो गई है. जबकि 1306 मरीज ठीक हुए हैं. देश में जान गंवाने वाले 377 लोगों में से सबसे अधिक 178 लोग महाराष्ट्र के हैं. सबसे ज्यादा मौत महाराष्ट्र में हुईं हैं.

CopyAMP code

अभी तक यह तय नहीं हो पाया है कि कोरोना वायरस कि जीव से इंसान में आया. अब एक नई स्टडी सामने आई है, जिसमें कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस चमगादड़ से कुत्ते में आई. फिर कुत्ते से इंसानों. SARS-CoV वायरस चमगादड़ से छोटी लोमड़ी जैसे जीव सिवेट्स से इंसानों में पहुंचा था. जबकि, MERS-CoV वायरस से चमगादड़ से ऊंट के जरिए इंसानों को शिकार बनाया था. अब यह नई स्टडी कह रही है कि वायरस कई बार ऐसे जीवों के जरिए भी इंसानों को शिकार बनाता है. जो उसके आसपास अधिकता में पाए जाते हैं.

इस एनालिसिस में प्रो. जुहुआ जिया ने कहा है कि कोरोना वायरस चमगादड़ों से निकलकर कुत्तों से होते हुए इंसानों में पहुंचा है. जिया ने अपने विश्लेषण में बताया है कि इंसानों के शरीर में एक प्रोटीन होता है जिसे जिंक फिंगर एंटीवायरल प्रोटीन जैप (ZAP) कहते हैं. जैप जैसे ही कोरोना वायरस के जेनेटिक कोड साइट CpG को देखता है. उसपर हमला करता है. यहीं पर वायरस अपना काम शुरू करता है और वह इंसान के शरीर में मौजूद कमजोर कोशिकाओं को खोजता है.

जिया ने जेनेटिक कोड साइट CpG, ZAP समेत कई जेनेटिकल मॉलीक्यूल्स का अध्ययन किया है. उसी के आधार पर उन्होंने बताया है कि कुत्तों में जैप कमजोर होता है. वह कोरोना वायरस के सीपीजी साइट से लड़ नहीं सकता. कुत्ते की आंतों में यह वायरस अपना घर बना लेता है. कुत्ते के जरिए फिर यह इंसानों में पहुंच जाता है. जैसा कि आपको पता है कि चीन में कुत्ते जैसे कई तरह के जानवर खाए जाते हैं.

9 thoughts on “अभी अभी भारत में कोरोना वायरस पर हुआ नया खुलासा, चमगादड़ नहीं इस जानवर द्वारा लोगों में फैला!

  1. Taxi moto line
    128 Rue la Boétie
    75008 Paris
    +33 6 51 612 712  

    Taxi moto paris

    Valuable info. Fortunate me I found your site by chance, and I’m stunned
    why this accident didn’t happened in advance! I bookmarked
    it.

Leave a Reply

Your email address will not be published.